साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री मोदी ने रूस का दौरा किया, ब्रिक्स और एससीओ के शिखर सम्मेलन में शामिल हुए
पीएम मोदी ने ब्रिक्स देशों के बीच मजबूत आर्थिक एकीकरण की आवश्यकता पर जोर दिया
प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स कृषि अनुसंधान केंद्र स्थापित किए जाने का प्रस्ताव दिया
भारत शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) का स्थायी सदस्य बना
श्री मोदी ने ब्रिक्स और एससीओ के शिखर सम्मेलन के दौरान विभिन्न नेताओं से मुलाकात की

8 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ऊफ़ा में 7वें ब्रिक्स सम्मेलन और शंघाई सहयोग संगठन के सम्मेलन में भाग लेने के लिए रूस पहुंचे। फेसबुक पर एक पोस्ट में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “पिछला सम्मेलन सफल एवं उपयोगी रहा था और मुझे विश्वास है कि पिछले सम्मेलन के दौरान हुए हमने जो बातें तय कीं, हम उस पर आगे बढ़ेंगे। मैं ब्रिक्स देशों के बीच आर्थिक सहयोग और सांस्कृतिक संबंधों में सकारात्मक परिणाम की उम्मीद करता हूँ।”

प्रधानमंत्री ने आगे कहा “भारत ब्रिक्स को अत्यंत महत्व देता है। यह एक बड़ा मंच है जो वैश्विक चुनौतियों को कम करने में प्रभावी ढंग से योगदान दे सकता है। भविष्य में विश्व में शांति और सुरक्षा बनाये रखने में ब्रिक्स की अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि हमारी आने वाली पीढ़ियों को रहने के लिए बेहतर स्थान एवं माहौल मिले।”

I will join the 7th BRICS Summit & SCO Summit in Ufa, Russia. In the past one year I have had the opportunity to meet...

Posted by Narendra Modi on Saturday, July 4, 2015

ब्रिक्स शिखर सम्मेलन में ब्रिक्स व्यापार परिषद को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स देशों के बीच मजबूत आर्थिक एकीकरण की आवश्यकता पर बल दिया। प्रधानमंत्री मोदी ने ब्रिक्स के अन्य नेताओं के साथ व्यापक वार्ता की और सहयोग बढ़ाने और वैश्विक चुनौतियों को कम करने के उपायों पर विचार-विमर्श किया।

The #BRICS family. Our discussions have been wide-ranging & very comprehensive.

Posted by Narendra Modi on Thursday, July 9, 2015

ब्रिक्स सम्मेलन के पूर्ण सत्र को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के दौरान ब्रिक्स देशों के सक्रिय सहयोग और भागीदारी के लिए उनकी सराहना की। उन्होंने सामूहिक रूप से आतंकवाद का मुकाबला करने पर जोर दिया। जलवायु परिवर्तन पर बोलते हुए श्री मोदी ने कहा कि यह सबसे महत्वपूर्ण वैश्विक चुनौतियों में से एक है। उन्होंने अक्षय ऊर्जा पर ध्यान केंद्रित करने की बात कही। प्रधानमंत्री ने एक ब्रिक्स कृषि अनुसंधान केंद्र स्थापित किए जाने का भी प्रस्ताव रखा।

श्री मोदी ने आगे कहा कि राजनीतिक सुरक्षा और आर्थिक चुनौतियों से भरी इस दुनिया में ब्रिक्स आशा का एक महत्वपूर्ण स्तंभ है। उन्होंने कहा कि ब्रिक्स केवल उन देशों के लिए नहीं है जो इसके अंतर्गत आते हैं बल्कि इसने पूरे विश्व के कल्याण के लिए कार्य किया है। प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि आर्थिक सहयोग रणनीति को अपनाना एक विशिष्ट एवं महत्वपूर्ण कदम सिद्ध हुआ क्योंकि इसमें शामिल विभिन्न सामाजिक पहल से ब्रिक्स के विकास में लाभ मिला।

Heard the insightful views of President Putin, President Xi Jinping, President Zuma & President Dilma Rousseff at #BRICS...

Posted by Narendra Modi on Thursday, July 9, 2015

ब्रिक्स और शंघाई सहयोग संगठन के नेताओं के बीच हुई बैठक में यूरेशिया के नेता भी उपस्थित थे। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूरेशिया गतिशील और असीम उत्साह से परिपूर्ण क्षेत्र रहा है। उन्होंने कहा कि यूरेशिया दुनिया का एक अग्रणी आर्थिक गलियारा और व्यापार केंद्र बन सकता है, इसमें इस बात की पूरी क्षमता है। पीएम मोदी ने ब्रिक्स में ‘रीजनल आउटरीच’ शुरू करने के लिए दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा की भी सराहना की।

इस दौरान महत्वपूर्ण समझौतों और समझौता ज्ञापनों पर भी हस्ताक्षर किए गए।

इतिहास में यह पहला अवसर था जब किसी भारतीय प्रधानमंत्री ने एससीओ के सदस्य देश के रूप में शामिल होने के लिए एससीओ हेड्स ऑफ़ स्टेट काउंसिल के पूर्ण सत्र में भाग लिया। इस अवसर पर बोलते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने भारत को शंघाई सहयोग संगठन की स्थायी सदस्यता मिलने पर अपना आभार व्यक्त किया और इस बात का आश्वासन दिया कि भारत इसमें अपना पूर्ण सहयोग देगा। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में भारत मानव संसाधन विकास, सूचना, संचार एवं प्रौद्योगिकी, फार्मास्यूटिकल्स और स्वास्थ्य, बैंकिंग और पूंजी बाजार, एमएसएमई और खाद्य क्षेत्रों में अपनी सहभागिता को और आगे बढ़ाएगा।

ब्रिक्स और शंघाई सहयोग संगठन शिखर सम्मेलन के मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बैठक:

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ब्रिक्स के अन्य नेताओं के साथ बैठक कर व्यापक विचार-विमर्श किया। श्री मोदी ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन, चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, ब्राजील की राष्ट्रपति डिलमा रूसेफ़ और दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा से मुलाकात की।

Talked India-Russia ties & global issues with President Putin. Our meeting was very fruitful.

Posted by Narendra Modi on Wednesday, July 8, 2015

Great meeting President Xi Jinping again. Our talks were comprehensive & a lot of topics came up for discussion.非常高兴再次与习近平主席会见。我们进行了全面的讨论,讨论了很多议题。

Posted by Narendra Modi on Wednesday, July 8, 2015

Had a great meeting with President Dilma Rousseff. We are very optimistic about the potential of strong India-Brazil ties.

Posted by Narendra Modi on Thursday, July 9, 2015

President Zuma & I had a wonderful meeting. Discussions were centred around strengthening India-South Africa ties.

Posted by Narendra Modi on Thursday, July 9, 2015

श्री नरेन्द्र मोदी ने ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी, पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी के साथ भी वार्ता की।

20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
मन की बात क्विज
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
 PM Modi Gifted Special Tune By India's 'Whistling Village' in Meghalaya

Media Coverage

PM Modi Gifted Special Tune By India's 'Whistling Village' in Meghalaya
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 1 दिसंबर 2021
December 01, 2021
साझा करें
 
Comments

India's economic growth is getting stronger everyday under the decisive leadership of PM Modi.

Citizens gave a big thumbs up to Modi Govt for transforming India.