साझा करें
 
Comments
भारत सरकार मछुआरों के सशक्तिकरण की दिशा में कदम उठा रही है: प्रधानमंत्री मोदी
जीएसटी परिषद में लिए गए निर्णयों के परिणामस्वरूप देशवासियों की दिवाली पहले ही आ गई है: पीएम मोदी
जब लोगों को सरकार में भरोसा होता है और जब नीतियां लोगों के हितो को ध्यान में रखकर बनाई जाती हैं, तो यह स्वाभाविक है कि लोग हमें समर्थन देंगेे: प्रधानमंत्री
भारत का आम नागरिक चाहता है कि विकास का फल उन तक पहुंचे: प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने आज द्वारका के द्वारकाधीश मंदिर में पूजा-अर्चना के साथ अपनी दो दिवसीय गुजरात यात्रा की शुरुआत की।

प्रधानमंत्री ने ओखा और बेट द्वारका के बीच पुल एवं अन्‍य सड़क विकास परियोजनाओं की आधारशिला रखने के लिए पट्टिकाओं का अनावरण किया।

प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्‍होंने द्वारका में आज एक नई ऊर्जा और उत्‍साह देखा। उन्होंने कहा कि जिस पुल की आधारशिला रखी गई है वह हमारी प्राचीन विरासत को नए सिरे से जोड़ने का एक साधन है। उन्‍होंने कहा कि इससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा जिससे रोजगार के अवसर सृजित होंगे क्‍योंकि पर्यटन को प्रोत्‍साहित करने के लिए विकास काफी अहम होगा।

प्रधानमंत्री ने याद किया कि कुछ वर्ष पहले बुनियादी ढांचे के अभाव के कारण किस प्रकार बेट द्वारका के लोगों को कठिनाइयों और चुनौतियों का सामना करना पड़ता था।

प्रधानमंत्री ने कहा कि पर्यटन क्षेत्र का विकास अलग-थलग रहकर नहीं किया जा सकता है। उन्‍होंने कहा कि यदि हम अधिक से अधिक पर्यटकों को गिर की ओर आकर्षित करना चाहते हैं तो हमें पर्यटकों को द्वारका जैसे आसपास के अन्‍य जगहों का भ्रमण करने के लिए भी प्रेरित करना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा कि बुनियादी ढांचे के निर्माण से आर्थिक गतिविधियों में सुधार होना चाहिए और इससे विकास का वातावरण समृद्ध होना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि हम बंदरगाहों का विकास और बंदरगाह-आधारित विकास चाहते हैं क्‍योंकि नीली अर्थव्‍यवस्‍था से भारत की प्रगति को आगे मदद मिलनी चाहिए। 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सरकार मछुआरों के सशक्तिकरण के लिए कई कदम उठा रही है। उन्‍होंने कहा कि काण्‍डला पोर्ट में अप्रत्‍याशित वृद्धि दिख रही है क्‍योंकि इस बंदरगाह में सुधार के लिए संसाधन लगाए गए थे। उन्‍होंने कहा कि अलंग को एक नया जीवन दिया गया है और वहां काम कर रहे श्रमिकों के कल्‍याण के लिए कदम उठाए गए हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार समुद्री सुरक्षा उपकरणों का आधुनिकीकरण कर रही है। उन्‍होंने कहा कि इसके लिए इस देवभूमि द्वारका में एक संस्‍थान की स्‍थापना की जाएगी।

कल जीएसटी परिषद की बैठक में आम सहमति से लिए गए निर्णय के बारे में प्रधानमंत्री ने कहा कि जब सरकार में भरोसा होता है और जब नीतियां सच्‍चे इरादे से बनाई जाती हैं तो लोगों के लिए यह स्‍वाभाविक है कि वे राष्‍ट्र के बेहतरीन हित में हमारा समर्थन करें।

प्रधानमंत्री ने जोर देकर कहा कि सरकार लोगों की आकांक्षाओं को पूरा करने और गरीबी से मुकाबला करने में मदद करना चाहती है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि दुनिया का ध्‍यान भारत की ओर आकर्षित किया जा रहा है और लोग यहां निवेश करने के लिए आ रहे हैं। प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं देख रहा हूं कि गुजरात भारत के विकास में सक्रिय योगदान कर रहा है और इसके लिए मैं गुजरात सरकार को बधाई देता हूं।'

 

Click here to read full text speech

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
पीएम मोदी की वर्ष 2021 की 21 एक्सक्लूसिव तस्वीरें
Explore More
काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

काशी विश्वनाथ धाम का लोकार्पण भारत को एक निर्णायक दिशा देगा, एक उज्ज्वल भविष्य की तरफ ले जाएगा : पीएम मोदी
Make people aware of govt schemes, ensure 100% Covid vaccination: PM

Media Coverage

Make people aware of govt schemes, ensure 100% Covid vaccination: PM
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 20 जनवरी को ‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ के राष्ट्रीय शुभारंभ समारोह में मुख्य भाषण देंगे
January 19, 2022
साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री ब्रह्म कुमारियों की सात पहलों को भी हरी झंडी दिखाएंगे

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी 20 जनवरी, 2022 को प्रात:10:30 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘आजादी के अमृत महोत्सव से स्वर्णिम भारत की ओर’ कार्यक्रम के राष्ट्रीय शुभारंभ समारोह में मुख्य भाषण देंगे। इस कार्यक्रम में ब्रह्म कुमारियों द्वारा आजादी के अमृत महोत्सव को समर्पित साल भर चलने वाली पहलों का अनावरण किया जाएगा, जिसमें 30 से अधिक अभियान, 15,000 से अधिक कार्यक्रम और आयोजन शामिल हैं।

इस कार्यक्रम के दौरान, प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ब्रह्म कुमारियों की सात पहलों को हरी झंडी दिखाएंगे। इन पहलों में ‘मेरा भारत स्‍वस्‍थ भारत’ आत्‍मनिर्भर भारत : आत्मनिर्भर किसान, महिलाएं : भारत की ध्वजवाहक, शांति बस अभियान की शक्ति, अनदेखा भारत साइकिल रैली, यूनाइटेड इंडिया मोटर बाइक अभियान और स्वच्छ भारत अभियान के तहत हरित पहल शामिल हैं।

मेरा भारत स्‍वस्‍थ भारत पहल में, मेडिकल कॉलेजों और अस्पतालों में विविध आयोजन और कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें आध्यात्मिकता, कल्‍याण और पोषण पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा। इन कार्यक्रमों में चिकित्सा शिविरों, कैंसर जांच, डॉक्टरों और अन्य स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों के लिए सम्मेलनों के आयोजन आदि शामिल हैं। आत्मनिर्भर भारत: आत्मनिर्भर किसानों के तहत 75 किसान सशक्तिकरण अभियान, 75 किसान सम्मेलन, 75 सतत यौगिक कृषि प्रशिक्षण कार्यक्रम और किसानों के कल्याण के लिए ऐसी ही अनेक पहलों का आयोजन किया जाएगा। महिलाएं: भारत की ध्वजवाहक के तहत, महिला सशक्तिकरण और बालिका सशक्तिकरण के माध्यम से सामाजिक बदलाव पर ध्यान केन्द्रित किया जाएगा।

शान्ति बस अभियान की शक्ति में 75 शहरों और तहसीलों को शामिल किया जाएगा और आज के युवा के सकारात्मक बदलाव के बारे में एक प्रदर्शनी का आयोजन किया जाएगा। विरासत और पर्यावरण के बीच संबंध को रेखांकित करते हुए अनदेखा भारत साइकिल रैली का विभिन्‍न विरासत स्‍थलों पर आयोजन किया जाएगा। यूनाइटेड इंडिया मोटर बाइक अभियान माउंट आबू से दिल्ली तक आयोजित किया जाएगा और इसके तहत कई शहरों को शामिल किया जाएगा। स्वच्छ भारत अभियान के तहत पहल में मासिक स्वच्छता अभियान, सामुदायिक सफाई कार्यक्रम और जागरूकता अभियान शामिल किए जाएंगे।

इस कार्यक्रम के दौरान, ग्रैमी अवार्ड विजेता श्री रिकी केज द्वारा आजादी के अमृत महोत्‍सव को समर्पित एक गीत भी जारी किया जाएगा।

ब्रह्म कुमारी एक विश्वव्यापी आध्यात्मिक आंदोलन है, जो व्यक्तिगत बदलाव और विश्व नवीकरण के लिए समर्पित है। ब्रह्म कुमारी की स्‍थापना वर्ष 1937 में हुई थी, जिसका 130 से अधिक देशों में विस्‍तार हो गया है। यह आयोजन ब्रह्मकुमारियों के संस्थापक पिता पिताश्री प्रजापिता ब्रह्मा की 53वीं अधिरोहण वर्षगांठ के अवसर पर हो रहा है।