साझा करें
 
Comments
सरकार बनाना जनता का काम है और सरकार चलाना हमारी जिम्मेदारी है और ये जिम्मेदारी हमने पूरी ईमानदारी से निभाई है: प्रधानमंत्री मोदी
देश भर के कार्यकर्ताओं की मेहनत है कि आज कश्मीर से कन्याकुमारी तक काशी घाट से पोरबंदर तक उत्साह का माहौल है, देश में लोग खुद कह रहे हैं – ‘फिर एक बार मोदी सरकार’: पीएम मोदी
आज पार्टी हमारी बढ़ी है उसका कारण टीवी या अखबार नहीं है, हम बड़े परिवार से नहीं आए हैं, हम छोटे-छोटे कार्यकर्ता हैं, जैसे रामजी के पास पूरी वानर सेना थी, जैसे कृष्ण जी के पास ग्वाले थे, वैसे ही भारत मां के हम सिपाही हैं: प्रधानमंत्री

“पांच साल के अनुभव के आधार पर अनेक आशा, आकांक्षा लेकर जनता हमसे जुड़ गई है। देशवासियों ने पूरे देश के राजनीतिक चरित्र को बदल दिया है। हमारे देश में इतने चुनाव हुए, लेकिन इस चुनाव के बाद पॉलिटिकल पंडितों को माथापच्ची करनी पड़ेगी, क्योंकि आजादी के बाद पहली बार प्रो इंकम्बैंसी लहर दिखाई दे रही है। चुनाव जीतकर मुझे आनंद नहीं होगा, अगर एक भी पोलिंग बूथ पर मेरा कार्यकर्ता हार गया। अब एक ही मंत्र होना चाहिए- मेरा बूथ सबसे मजबूत।“

अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ये बातें कहीं। उन्होंने गुरुवार को हुए रोड शो में भारी समर्थन के लिए कार्यकर्ताओं और काशी की जनता का आभार जताया। उन्होंने कहा, “काशी जीतने का काम कल पूरा हो गया है, अब बस पोलिंग बूथ जीतना रह गया है। 40 डिग्री तापमान में भी आप मतदान के अब तक के सभी रिकॉर्ड तोड़ दें। जब कोई गलत बात कहे तो उसे आप मोदी के खाते में जमा कर दें। मैं गंदी से गंदी चीजों से, कूड़े-कचरे से भी खाद बनाता हूं और उससे ही कमल खिलाता हूं। जो इस बार पहली बार वोट देने वाले हैं, उनकी लिस्ट बनाइए, उन सबको बुलाइए। कम से कम एक गुड़ का टुकड़ा उनके मुंह में रखकर उनका मुंह मीठा कीजिए। हमारे लिए हर उम्मीदवार आदरणीय है, वो हमारा दुश्मन नहीं है। यह चुनाव जंग नहीं लोकतंत्र का उत्सव है। हमें जनता-जनार्दन के दिल जीतने में जिंदगी खपानी है। हम दिल जीतने के लिए निकले हैं, दल तो अपने-आप जीत जाएगा।”

पीएम मोदी ने कहा कि कार्यकर्ता के नाते पार्टी ने जितना समय मांगा, जब-जब मांगा, उतना दिया, उन्होंने एक बार भी मना नहीं किया। उन्होंने अपने भीतर के कार्यकर्ता को कभी मरने नहीं दिया है, और इसी वजह से प्रधानमंत्री और सांसद की जिम्मेदारी निभा पा रहे हैं। उन्हें अखबारों और टीवी चैनलों के स्क्रीन ने बड़ा नहीं बनाया है, उन्हें कार्यकर्ताओं ने बनाया है। उन्होंने कहा, “कल सोशल मीडिया पर लोगों ने मुझे बहुत डांटा कि रोड शो बंद कर दीजिए, अपनी सुरक्षा का ध्यान रखिए। लेकिन, मोदी का कोई ध्यान रखता है तो वे इस देश की करोड़ों माताएं हैं। वे शक्ति बनकर मेरी सुरक्षाकवच बनती हैं। मेरी एक इच्छा है, जो मैं गुजरात में भी पूरा नहीं कर पाया। क्या बनारस वाले मेरी वो इच्छा पूरी कर सकते हैं? मैं चाहता हूं कि पुरुषों की तुलना में महिलाओं का मतदान पांच प्रतिशत ज्यादा होना चाहिए।”

 

प्रधानमंत्री मोदी के साथ परीक्षा पे चर्चा
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Matthew Hayden writes an emotional note for India, gives his perspective to the ‘bad press’

Media Coverage

Matthew Hayden writes an emotional note for India, gives his perspective to the ‘bad press’
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 17 मई 2021
May 17, 2021
साझा करें
 
Comments

PM Modi extends greets Statehood Day greetings to people of Sikkim

Modi govt is taking all necessary steps to cope up with Covid-19 crises