साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोवा में ब्रिक्स-बिम्सटेक आउटरीच शिखर सम्मेलन को संबोधित किया
हम समान चुनौतियों और चिंताओं से जुड़े हैं: प्रधानमंत्री
प्रौद्योगिकी दूरियों को कम कर सकती है और समुदायों को जोड़ती है, यह हमारे दैनिक जीवन में परिवर्तन ला सकती है: प्रधानमंत्री
पर्यावरण और आपदा प्रबंधन ऐसे क्षेत्र हैं जहां हम एक साथ काम कर सकते हैं: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गोवा में आयोजित ब्रिक्स-बिम्सटेक आउटरीच समिट को संबोधित किया।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम सब दुनिया की दो तिहाई आबादी का प्रतिनिधित्व करते हैं। हम समान चुनौतियों और चिंताओं से जुड़े हुए हैं। यहां कई आर्थिक संभावनाएं हैं। हमारी उन्नति, विकास, वाणिज्य और प्रौद्योगिकी को लेकर संयुक्त आकांक्षाएं हैं।’

तकनीक के उपयोग पर बल देते हुए, प्रधानमंत्री ने कहा कि यह दूरियों को मिटा सकता है और समुदायों को जोड़ सकता है और हमारे दैनिक जीवन में परिवर्तन ला सकता है।

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘हम पर्यावरण और आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में एक साथ काम कर सकते हैं।’

प्रधानमंत्री मोदी के साथ परीक्षा पे चर्चा
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Rs 49,965 Crore Transferred Directly Into Farmers’ Account Across India

Media Coverage

Rs 49,965 Crore Transferred Directly Into Farmers’ Account Across India
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और भूटान के प्रधानमंत्री डॉ. लोटे त्‍शेरिंग के बीच टेलीफोन वार्ता
May 11, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज भूटान के प्रधानमंत्री डॉ. लोटे त्‍शेरिंग के साथ टेलीफोन पर बातचीत की।

भूटान के प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी की वर्तमान लहर से लड़ने में भारत और भारतवासियों के साथ एकजुटता दिखाई। प्रधानमंत्री ने भूटान सरकार और भूटानवासियों को उनकी सद्भावनाओं और समर्थन के लिये धन्यवाद दिया।

उन्होंने भूटान नरेश के नेतृत्व में महामारी के खिलाफ जंग में भूटान की भूमिका की सराहना की और महामारी के खिलाफ किये जाने वाले प्रयासों के लिये लाइनछिन को शुभकामनायें दीं।

दोनों नेताओं ने सहमति व्यक्त कि मौजूदा संकट से भारत और भूटान के बीच विशेष मैत्री को और बढ़ावा दिया जा सकता है। दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण सम्बंध आपसी समझ, आपसी सम्मान, साझा सांस्कृतिक विरासत और लोगों के बीच सौहार्द पर आधारित हैं।