साझा करें
 
Comments 2796 Comments
प्रधानमंत्री ने उत्तर प्रदेश के आगरा में परिवर्तन रैली को संबोधित किया
प्रधानमंत्री मोदी ने प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) और रेलवे विकास परियोजनाओं का शुभारंभ किया
विमुद्रीकरण का फैसला ईमानदार लोगों के हितों की रक्षा के लिए है: प्रधानमंत्री
केंद्र की एनडीए सरकार देश के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी
केंद्र सरकार का नोटबंदी का फैसला गरीबों और मध्यम वर्ग के लोगों के हितों की रक्षा के लिए है: प्रधानमंत्री

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज उत्तर प्रदेश के आगरा में एक जनसभा को संबोधित किया। अपने संबोधन के शुरुआत में उन्होंने कानपुर में हुए रेल हादसे को दुर्भाग्यपूर्ण बताया। उन्होंने कहा, ‘राहत एवं बचाव कार्य पूरी तेजी से चल रहा है। केंद्र इस मामले की जांच भी करेगी। मेरी संवेदनाएं दुर्घटना में मारे गए लोगों के परिजनों के साथ है। मैं घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।’

प्रधानमंत्री ने आज विभिन्न परियोजनाओं के उद्घाटन अवसर पर लोगों को संबोधित किया। इस दौरान श्री मोदी ने कहा कि एनडीए सरकार ने जनता की भलाई के लिए देश में कई पहलों की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार आजादी की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर गरीबों को घर मुहैया कराने की दिशा में काम कर रही है। श्री मोदी ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि जब देश 2022 में अपनी आजादी की 75वीं वर्षगांठ मनाएं तो सभी भारतीयों के पास अपना घर हो। जब हम इस पहल के शुरुआत की बात करते हैं तो, इसका मतलब यह भी है कि बहुत सारे लोगों को रोजगार मिलेगा।’

प्रधानमंत्री ने रेलवे के ढांचागत विकास और रोजगार सृजन के लिए कई रेलवे परियोजनाओं का शुभारंभ भी किया।

प्रधानमंत्री ने उज्जवला योजना के विषय में बताया कि यह कैसे ग्रामीण इलाकों में धुंआ-रहित क्षेत्र बनाने में अपना योगदान निभा रहा है। उन्होंने ग्रामीण विद्युतिकरण की दिशा में हो रही प्रगति के बारे में भी लोगों को बताया। उन्होंने कहा, ‘आजादी के कई सालों बाद भी बहुत सारे गांवों में अबतक बिजली नहीं पहुंच पाई। हम इसमें परिवर्तन लाने की दिशा में काम कर रहे हैं।’

विमुद्रीकरण के बारे में बात करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि नोटबंदी पर सरकार ने जो फैसला किया है वह गरीबों और मध्यम वर्ग के लोगों के हितों की रक्षा के लिए है। उन्होंने कहा कि इसका फायदा देश के ईमानदार लोगों को मिलेगा। श्री मोदी ने कहा, ‘नोटबंदी का यह फैसला किसी को परेशान करने के लिए नहीं किया गया है। यह फैसला ईमानदार लोगों के हितों की रक्षा करने के लिए लिया गया था। इस फैसला युवाओं के सुरक्षित भविष्य के लिए है। लेकिन कुछ लोग जिनका चिट फंट घोटाले का पैसा फंस गया है और जो लोग उनका समर्थन कर रहे हैं उन्हें तकलीफ हो रही है।’

श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को बंद होने से उन लोगों को ज्यादा नुकसान हुआ है जो लोग जोली नोटों के रैकेट और नशीले पदार्थों जैसे काम में लिप्त थे। उन्होंने कहा, ‘500 और 1000 रुपये की नोटबंदी से आतंकी संगठनों की फंडिंग बंद हो गई है।’ प्रधानमंत्री ने लोगों से इसमें सहयोग और सरकार एवं बैंकों द्वारा जारी दिशानिर्देशों का पालन करने का आग्रह किया। प्रधानमंत्री ने कहा कि केंद्र की एनडीए सरकार देश के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है।

इस जनसभा के दौरान पार्टी के कई कार्यकर्ता और केंद्रीय मंत्री भी मौजूद थे

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
India to enhance cooperation in energy, skill development with Africa

Media Coverage

India to enhance cooperation in energy, skill development with Africa
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री की रवांडा, युगांडा और दक्षिण अफ्रीका की राजकीय यात्रा
July 23, 2018
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी रवांडा गणराज्‍य (23 से 24 जुलाई), युगांडा गणराज्‍य (24 से 25 जुलाई) और दक्षिण अफ्रीका गणराज्‍य (25 से 27 जुलाई) की राजकीय यात्रा पर रहेंगे। यह किसी भारतीय प्रधानमंत्री की पहली रवांडा यात्रा होगी, जबकि 20 वर्षों बाद भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली युगांडा यात्रा होगी। दक्षिण अफ्रीका की यात्रा ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन के संदर्भ में है।

प्रधानमंत्री की आधिकारिक रवांडा और युगांडा यात्रा में दोनों देशों के राष्‍ट्रपतियों के साथ द्विपक्षीय बैठक, प्रतिनिधिमंडल स्‍तरीय वार्ता और कारोबारियों एवं भारतीय समुदायों के साथ बैठक शामिल हैं। रवांडा में प्रधानमंत्री जेनोसाइड मेमोरियल का दौरा करेंगे और ‘गिरिंका’ (प्रति परिवार एक गाय) में भाग लेंगे, जो राष्‍ट्रपति पॉल कागमे द्वारा व्‍यक्तिगत तौर पर शुरू की गई रवांडा की एक राष्‍ट्रीय सामाजिक सुरक्षा योजना है। प्रधानमंत्री युगांडा की संसद को भी संबोधित करेंगे, युगांडा की संसद को पहली बार कोई भारतीय प्रधानमंत्री संबोधित करेगा।

प्रधानमंत्री दक्षिण अफ्रीका के राष्‍ट्रपति के साथ द्विपक्षीय बैठक करेंगे और ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन एवं ब्रिक्‍स से संबंधित अन्‍य बैठकों में भाग लेंगे। ब्रिक्‍स शिखर सम्‍मेलन के दौरान प्रतिभागी देशों के साथ द्विपक्षीय बैठक करने की भी योजना है।

अफ्रीका के साथ भारत का काफी मधुर संबंध रहा है और दक्षिण अफ्रीका में बड़ी संख्‍या में मौजूद भारतीय समुदाय इस तीव्र विकास भागीदारी महत्‍वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। यात्रा के दौरान रक्षा, व्‍यापार, संस्‍कृति, कृषि एवं डेयरी क्षेत्र में सहयोग जैसे क्षेत्रों में दोनों देशों के बीच समझौता ज्ञापन एवं तमाम समझौते पर हस्‍ताक्षर होंगे।

पिछले कुछ वर्षों के दौरान अफ्रीकी देशों के साथ विभिन्‍न क्षेत्रों में हमारी सहभागिता बढ़ी है और पिछले चार साल के दौरान राष्‍ट्रपति, उपराष्‍ट्रपति और प्रधानमंत्री स्‍तर की 23 अफ्रीका यात्रा हो चुकी हैं। भारत की विदेश नीति में अफ्रीका की प्रमुख प्राथमिकता रही है। रवांडा, युगांडा और दक्षिण अफ्रीका के प्रधानमंत्री के इस दौरे से अफ्रीकी उपमहाद्वीप के साथ हमारे संबंधों को और मजबूती मिलेगी।