साझा करें
 
Comments
चुनाव आते जाते रहते हैं, सरकारे आती जाती रहती है लेकिन सामान्य मानविकी के जीवन स्तर को ऊपर उठाने का संकल्प अटल रहता है: प्रधानमंत्री मोदी
ये कितनी भी महा-मिलावट कर लें, चौकीदार चुप बैठने वाला नहीं है, मैं उनमें से नहीं हूं जो अपनी किताब खुलने के डर से देश के शक्तिशाली सुल्तानों पर हाथ डालने से बचते थे: पीएम मोदी
भाजपा सरकार, इस बजट में पीएम किसान सम्मान निधि योजना लेकर आई है, इसके तहत किसान को साल में 6 हजार रुपए, सीधे उसके बैंक खाते में ट्रांसफर किए जाएंगे, इससे छत्तीसगढ़ समेत देशभर के करीब 12 करोड़ ऐसे किसान परिवारों को लाभ होगा जिनके पास 5 एकड़ या उससे कम जमीन है: प्रधानमंत्री
हमारी सरकार गरीब की सरकार है, गरीब के दर्द, उसकी तकलीफ को समझने वाली सरकार है, बीते साढ़े 4 साल में हमने लगातार कोशिश की है कि गरीब की जिंदगी आसान बने, सरकार के इन्हीं प्रयासों का असर है कि देश में गरीबी कम होना शुरू हुई है: प्रधानमंत्री मोदी
अब कुछ शक्तियां मजबूर सरकार बनाने के लिए जुट रही हैं, ताकि उनका लूट-खसूट का कोराबार फल-फूल सके, इस साजिश के प्रति, इस महा-मिलावट के प्रति आप सभी को जागरूक रहना है: पीएम मोदी
कर्जमाफी के नाम पर बिचौलियों का पेट भरने का काम करने वाली कांग्रेस के यही तौर तरीके हैं, ये 10 वर्ष बाद कर्जमाफी की योजना लेकर आते हैं, पहले 2009 का चुनाव जीतने के लिए लाए थे, अब 2019 में लेकर आए हैं: प्रधानमंत्री

“हमारी सरकार गरीबों का दर्द समझने वाली सरकार है। बीते चार वर्षों में हमने गरीबों के कल्याण के लिए कई योजनाएं बनाईं। इन योजनाओं का असर ये हुआ कि देश से गरीबी कम होना शुरू हो गई है। हमने हाल ही में प्रधानमंत्री श्रमयोगी मानधन योजना शुरू की। श्रमिक परिवारों के लिए, जो घरों में काम करते हैं, सड़कों या घरों के निर्माण में जुटे हैं, मिट्टी का काम करते हैं, रिक्शा-ठेला चलाते हैं- ऐसे करोड़ों लोगों के लिए देश के इतिहास में पहली बार कोई योजना शुरू की गई है। इसके तहत उन्हें साठ साल की उम्र के बाद 3,000 रुपये पेंशन दिए जाएंगे। इसका लाभ 30-40 करोड़ लोगों को होगा।”      

छत्तीसगढ़ के रायगढ़ में एक विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के दलित, गरीब, आदिवासी, शोषित, कारोबारी- हर वर्ग के लिए काम करने का उनका संकल्प और मजबूत हुआ है। प्रधानमंत्री ने कहा कि वे यहां सड़कों, रेलवे, नए हवाई अड्डे बनाने और उद्योग धंधे लगाने के काम में और तेजी लाएंगे, इन्हें और अच्छे से करेंगे।

भाजपा के नेतृत्व वाली केंद्र की एनडीए सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आयुष्मान भारत योजना से गरीब अपने पैरों पर खड़ा हुआ है। हालांकि, छत्तीसगढ़ में पहले चल रही इस योजना को बंद कर दिए जाने पर उन्होंने चिंता जतायी। गांव-गरीब, किसान-मजदूर के लिए किए जा रहे कार्यों की चर्चा करते हुए श्री मोदी ने कहा, ‘’प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से छोटे किसानों को लाभ होगा। इसके तहत हर साल किसानों को 6,000 रुपये दिए जाएंगे। अगले दस वर्षों में इस योजना के तहत किसानों को साढ़े सात लाख करोड़ रुपये दिए जाएंगे।‘’   

पीएम मोदी ने कहा कि अब तक किसानों को एक लाख रुपये का कृषि कर्ज मिलता था, लेकिन मौजूदा सरकार ने  किसानों के लिए कृषि कर्ज की सीमा को बढ़ाकर 1 लाख 60 हजार रुपये कर दिया। अब किसान बिना बैंक गारंटी ज्यादा ऋण ले सकेंगे। उन्होंने कहा कि सरकार के प्रयास से बैंकों ने निर्णय लिया है कि किसान क्रेडिट कार्ड के तहत बैंक जो भी चार्ज लेते थे, वे अब नहीं लिए जाएंगे। ये सभी शुल्क समाप्त कर दिए गए हैं। प्रधानमंत्री ने इसके लिए इंडियन बैंकर्स एसोसिएशन को बधाई दी। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि उनकी सरकार किसानों की छोटी-छोटी आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए प्रतिबद्ध है। किसानों को कम ब्याज दर पर ऋण मिल सके, उसके लिए ब्याज दर में छूट के लिए जो राशि उपलब्ध कराई जाती थी, उसे 5 वर्षों में इस सरकार ने दोगुना कर दिया। इस साल के बजट में फसली ऋण को बढ़ाकर 11 लाख 68 हजार करोड़ रुपये कर दिया गया है। किसानों को कृषि से जुड़ी जरूरतों के लिए अब ज्यादा राशि मिल सकेगी।



पीएम मोदी ने कहा कि गरीब, दलित और आदिवासियों को पक्का घर दिया जा रहा है। उज्ज्वला योजना के माध्यम से मुफ्त गैस कनेक्शन  और सौभाग्य योजना के तहत मुफ्त बिजली कनेक्शन दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिन ईमानदार करदाताओं के पैसे से विकास के ये काम होते हैं, उनके लिए भी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब इनकम टैक्स की सीमा को ढाई लाख से बढ़ाकर 5 लाख रुपये कर दिया गया है। इससे 3 करोड़ लोगों को फायदा होगा। ये सारे काम इसलिए हुए, क्योंकि लोगों के एक-एक वोट से बहुमत वाली सरकार बनी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि देश में आदिवासी समाज का बड़ा योगदान रहा है। आदिवासी महापुरुषों के लिए मौजूदा सरकार कई जगहों पर म्यूजियम बना रही है। पीएम मोदी ने छत्तीसगढ़ से अपना पुराना नाता बताते हुए कहा कि जब उनकी पार्टी सत्ता के गलियारे में कहीं नहीं थी, तभी से वे संगठन के काम के लिए छत्तीसगढ़ आते रहे हैं।उन्होंने कहा, ‘’यहां के लोगों में बीजेपी के प्रति जो भाव अनुभव करता था, वह अनुपम था। अटल जी के प्रति यहां के लोगों की श्रद्धा अप्रतिम रही है।‘’ श्री मोदी ने कहा कि गुजरात का मुख्यमंत्री बनने के बाद भी वे छत्तीसगढ़ आते रहे थे और प्रधानमंत्री बनने के बाद तो इतनी बार यहां आए, जितना कोई और प्रधानमंत्री यहां नहीं आया था।

प्रधानमंत्री ने अपने भाषण के दौरान मां चंद्रहासिनी, मां नाथलदाई, देवी डोकरीदाई, श्री सत्यनारायण बाबा, संत गहिरागुरु, अवधूत बाबा भगवान राम और प्रियदर्शन राम जी जैसे संतों और देवी-देवताओं के साथ स्थानीय महापुरुषों और समाजसेवियों को याद किया।

पूरा भाषण पढ़ने के लिए यहां क्लिक कीजिए

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
Explore More
हमारे जवान मां भारती के सुरक्षा कवच हैं : नौशेरा में पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

हमारे जवान मां भारती के सुरक्षा कवच हैं : नौशेरा में पीएम मोदी
Indian economy shows strong signs of recovery, upswing in 19 of 22 eco indicators

Media Coverage

Indian economy shows strong signs of recovery, upswing in 19 of 22 eco indicators
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सोशल मीडिया कॉर्नर 7 दिसंबर 2021
December 07, 2021
साझा करें
 
Comments

India appreciates Modi Govt’s push towards green growth.

People of India show immense trust in the Govt. as the economic reforms bear fruits.