साझा करें
 
Comments
"Shri Narendra Modi addressed yet another round of the 3D Bharat Vijay rally"
"Today I will complete 900 3D rallies. It is my honour to connect with so many people across India: Shri Modi addressing 3D rally"
"Talks, body language of Congress and their allies suggests that they have conceded defeat in these elections: Shri Modi"
"Where was Congress secularism when there were so many instances of violence in Rajasthan that they ruled recently: Shri Modi"
"They keep saying 3rd front but these fronts have ruined the nation in the past. Unstable governments are not ideal: Shri Modi addressing 3D rally"
"Nation is one. We will not work for Hindus or Muslims we work for the people of India. We cannot divide the nation like this: Shri Modi"
"Sonia ji you want to keep India's Muslims poor and uneducated only because of your votes: Shri Modi"
"You only belong to power and the chair. You do not belong to either a Hindu or Muslim. You are bothered about family not the nation: Shri Modi to Congress"
"I have not come to Kashi to seek votes but to connect with the people and understand their problems: Shri Modi"

श्री नरेन्द्र मोदी ने 2 मई 2014 की शाम को 3डी भारत विजय रैली संबोधित करते हुए जाति और वर्ग भेद के बगैर समाज के सभी वर्गों के विकास के भाजपा के फोकस का संदेश दिया। श्री मोदी ने वोट देकर सत्ता में पहुंचाने वाले लोगों का विकास करने में कांग्रेस की अयोग्यता और मिथ्याभरे दावों का खुलासा भी किया।

श्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस हिन्दु या मुसलमान किसी के लिए भी काम नहीं करती। उन्होंने सच्चि समिति का उदाहरण देते हुए कहा कि कुछ वर्ष पूर्व इस समिति ने कांग्रेस के दावों की पोल खोली है और साफ तौर पर लिखा है कि अल्पसंख्यक समुदाय का सशक्तिकरण और विकास सबसे अच्छी तरह गुजरात में हुआ है। श्री मोदी ने कहा, “सोनिया जी आप अपने वोट की खातिर भारत के मुसलमानों को अशिक्षित और गरीब रखना चाहती हो।” उन्होंने कुंडू समिति की रिपोर्ट का उदाहरण भी दिया जिसमें साफ कहा गया है कि अल्पसंख्यंकों के लिए कार्यक्रमों का सर्वोत्तिम क्रियान्वयन गुजरात में हुआ है। उन्होंने कहा कि उनका सपना है कि प्रत्येक मुसलमान के एक हाथ में कुरान तथा दूसरे हाथ में कंप्यूटर होना चाहिए। उन्होंने कांग्रेस की ‘भारत विभाजन’ (‘Divide India’) की नीतियों की आलोचना की और कहा कि उनका लक्ष्य ‘डिजिटल इंडिया’ है। कांग्रेस की कथित धर्मनिरपेक्षता की आलोचना करते हुए श्री मोदी ने बताया कि राजस्थान में कांग्रेस के शासन के दौरान हुई हिंसक घटनाओं के समय यह कथित धर्मनिरपेक्ष नजरिया दिखाई नहीं दिया।

3drally

श्री मोदी ने भ्रष्टाचार के मुद्दे पर भी कांग्रेस पर निशाना साधा और कहा कि राजस्थान जैसे राज्यों में कांग्रेस के कई मंत्री भ्रष्टाचार के आरोप में जेल की हवा खा रहे हैं। श्री मोदी ने कहा, “आपका संबंध सिर्फ कुर्सी और सत्ता है। आपका नाता न हिन्दू से है न मुसलमान से। आपको देश की नहीं सिर्फ परिवार की चिंता है।” उन्होंने गंगा की सफाई के लिए आवंटित धन के दुरुपयोग और प्राकृतिक आपदा के बाद केदारनाथ के विकास के लिए पहल के अभाव जैसे कुशासन के उदाहरण देते हुए लोगों के प्रति केंद्र सरकार की उदासीनता की निंदा भी की। श्री मोदी ने गरीबों की बेहतरी के लिए काम करने संबंधी कांग्रेस के झूठ की पोल खोलते हुए कई आंकड़ों का उदाहरण दिया जिनसे साबित होता है कि गरीबों के लिए काम कर रहे शीर्ष 5 राज्यों में से एक भी कांग्रेस शासित नहीं है। उन्होंने महिलाओं के प्रति अपराध के बारे में एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि महिलाओं पर अत्याचार के मामले में 10 शीर्ष राज्यों में से सात राज्य‍ कांग्रेस शासित हैं। श्री मोदी ने पिछले साल 27 अक्टूबर को पटना में अपनी रैली में हुए बम धमाकों को याद करते हुए बताया कि किस तरह अफरा-तफरी के बावजूद लोग मैदान में डटे रहे और उत्साहपूर्वक रैली में शामिल हुए। उन्होंने बिहार और देश की जनता की सेवा करने की प्रतिबद्धता दोहरायी और कहा कि जनता ने पुन: उसी पार्टी में भरोसा जताया है जिसने सच्चे विकास का वादा किया था। उन्होंने कांग्रेस की बिहार में अपराधियों और दागियों की मदद लेने के लिए आलोचना भी की। श्री मोदी ने कहा, “बिहार जंगल राज से मुक्त हो रहा था लेकिन राजनीति के लिए उन्होंने फिर से इसे इस ओर धकेल दिया है।” श्री मोदी ने जल, बिजली और स्वच्छता जैसी बुनियादी सुविधाओं के अभाव का जिक्र भी किया और केंद्र सरकार अक्षमता के लिए उस पर निशाना साधा। उन्होंने भ्रष्टाचार, महंगाई, बेरोजगारी और गरीबी जैसी गंभीर चिंताओं पर कांग्रेस की जवाबदेही की मांग की।

तीसरे मोर्चा से पैदा हुई अस्थिरिता की निंदा करते हुए श्री मोदी ने कहा कि किस तरह इसने देश को बरबाद कर दिया है। श्री मोदी ने कहा, “वे तीसरे मोर्चा का राग अलापते रहते हैं लेकिन इन मोर्चों ने विगत में देश को बरबाद किया है। अस्थिर सरकार ठीक नहीं हैं।” उन्होंने यह भी बताया कि किस तरह कांग्रेस हार की सोचकर डरी हुई है और इसीलिए वह श्री मोदी को बदनाम करने और उन्हें प्रधानमंत्री बनने से रोकने की कोशिश में जुटी है।

चुनावों को लोकतंत्र का सबसे बड़ा उत्सव करार देते हुए श्री मोदी ने बताया कि किस तरह उन्होंने प्रौद्योगिकी का सफलतापूर्ण इस्तेमाल कर 900 3डी रैलियों को संबोधित किया है और देशभर में विभिन्न वर्गों के लोगों से बातचीत की है। श्री मोदी ने कहा, “राष्ट्र एक है। हम हिन्दुंओं या मुसलमानों के लिए काम नहीं करेंगे, हम भारत की जनता के लिए काम करेंगे। मैं काशी वोट मांगने नहीं आया हूं बल्कि लोगों से जुड़ने तथा उनकी समस्याओं को समझने के लिए आया हूं।” उन्होंने लोगों से भाजपा का समर्थन करने और केंद्र में मजबूत व स्थांयी सरकार गठित करने का आग्रह किया।

20 Pictures Defining 20 Years of Seva Aur Samarpan
मन की बात क्विज
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Terror violence in J&K down by 41% post-Article 370

Media Coverage

Terror violence in J&K down by 41% post-Article 370
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने चक्रवात जवाद से निपटने की तैयारियों की समीक्षा के लिए उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की
December 02, 2021
साझा करें
 
Comments
प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को लोगों की सुरक्षित निकासी सुनिश्चित करने के लिए सभी आवश्यक उपाय करने का निर्देश दिया
सभी आवश्यक सेवाओं का रखरखाव सुनिश्चित करें और व्यवधान की स्थिति में उनकी शीघ्र बहाली सुनिश्चित करें: प्रधानमंत्री
सभी संबंधित मंत्रालय और एजेंसियां चक्रवात के प्रभाव से समुचित रूप से निपटने के लिए ​​तालमेल के साथ काम कर रहे हैं
एनडीआरएफ ने नावों, पेड़ काटने की मशीन, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस 29 टीमों को पहले से तैनात किया है, 33 टीमों को तैयार रहने (स्टैंडबाय) का निर्देश दिया गया
भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज तथा बचाव कार्यों के लिए जहाजों और हेलीकॉप्टरों को तैनात किया है
वायु सेना और इंजीनियर टास्क फोर्स इकाइयां तैनाती के लिए स्टैंडबाय पर हैं
आपदा राहत दल और चिकित्सा दल पूर्वी तट के आसपास स्टैंडबाय पर हैं

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने चक्रवात जवाद की संभावित स्थिति से निपटने के लिए राज्यों और केंद्रीय मंत्रालयों तथा संबंधित एजेंसियों की तैयारियों की समीक्षा के लिए आज एक उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता की।

प्रधानमंत्री ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए हर संभव उपाय करने का निर्देश दिया कि लोगों को सुरक्षित रूप से निकाला जाए और सभी आवश्यक सेवाओं जैसे बिजली, दूरसंचार, स्वास्थ्य, पेयजल आदि का रखरखाव सुनिश्चित किया जाए तथा किसी भी व्यवधान की स्थिति में उन्हें तुरंत बहाल किया जाए। उन्होंने आवश्यक दवाओं और आपूर्ति का पर्याप्त भंडारण सुनिश्चित करने तथा निर्बाध आवाजाही की योजना बनाने का भी निर्देश दिया। उन्होंने नियंत्रण कक्ष को चौबीसों घंटे चालू रखने के भी निर्देश दिए।

भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा है कि बंगाल की खाड़ी में कम दबाव के क्षेत्र में चक्रवात जवाद के रूप में जोर पकड़ने की उम्मीद है और शनिवार, 4 दिसंबर, 2021 की सुबह हवा की गति अधिकतम 100 किमी/घंटा के साथ इसके आंध्र प्रदेश - ओडिशा के उत्तर तट तक पहुंचने की उम्मीद है। इससे आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों में भारी वर्षा होने की संभावना है। आईएमडी सभी संबंधित राज्यों को नवीनतम पूर्वानुमान के साथ नियमित बुलेटिन जारी करता है।

कैबिनेट सचिव ने सभी तटीय राज्यों और संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों के मुख्य सचिवों तथा संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के साथ स्थिति एवं तैयारियों की समीक्षा की है।

गृह मंत्रालय चौबीसों घंटे स्थिति की समीक्षा कर रहा है और राज्य सरकारों/केंद्र शासित प्रदेशों और संबंधित केंद्रीय एजेंसियों के संपर्क में है। गृह मंत्रालय ने सभी राज्यों को एसडीआरएफ की पहली किस्त अग्रिम तौर पर जारी कर दी है। एनडीआरएफ ने 29 टीमों को पहले से तैनात किया है, जो राज्यों में नावों, पेड़ काटने की मशीन, दूरसंचार उपकरणों आदि से लैस हैं और 33 टीमों को स्टैंडबाय पर रखा गयाहै।

भारतीय तटरक्षक बल और नौसेना ने राहत, खोज और बचाव कार्यों के लिए जहाज तथा हेलीकॉप्टर तैनात किए हैं। वायु सेना तथा थल सेना की इंजीनियर टास्क फोर्स इकाइयां, नावों और बचाव उपकरणों के साथ तैनाती के लिए तैयार हैं। निगरानी विमान और हेलीकॉप्टर तट पर लगातार निगरानी कर रहे हैं। आपदा राहत दल और चिकित्सा दल पूर्वी तट से लगे स्थानों में स्टैंडबाय पर हैं।

विद्युत मंत्रालय ने आपातकालीन प्रत्युत्तर प्रणाली को सक्रिय कर दिया है और बिजली की तत्काल बहाली के लिए ट्रांसफॉर्मर, डीजी सेट तथा उपकरण आदि तैयार रखे हैं। संचार मंत्रालय सभी दूरसंचार टावरों और एक्सचेंजों पर लगातार नजर रख रहा है और दूरसंचार नेटवर्क को बहाल करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने प्रभावित क्षेत्रों में कोविड से निपटने के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र की तैयारियों और प्रत्युत्तर के लिए राज्यों / केंद्र शासित प्रदेशों के प्रभावित होने की संभावना के लिए एक चेतावनी जारी की है।

पोत, शिपिंग एवं जलमार्ग मंत्रालय ने सभी शिपिंग जहाजों को सुरक्षित करने के उपाय किए हैं और आपातकालीन जहाजों को तैनात किया है। राज्यों को तट के पास रासायनिक तथा पेट्रोकेमिकल इकाइयों जैसे औद्योगिक प्रतिष्ठानों को सतर्क करने के लिए भी कहा गया है।

एनडीआरएफ संवेदनशील स्थानों से लोगों को सुरक्षित निकालने के लिए राज्य एजेंसियों को उनकी तैयारियों में सहायता कर रहा है और चक्रवात की स्थिति से निपटने के लिए लगातार सामुदायिक जागरूकता अभियान भी चला रहा है।

प्रधानमंत्री के प्रधान सचिव, कैबिनेट सचिव, गृह सचिव, एनडीआरएफ के महानिदेशक और आईएमडी के महानिदेशक ने बैठक में भाग लिया।