साझा करें
 
Comments

गुजरात सरकार 6 करोड़ गुजरातियों के साथ ही

 ढाई करोड़ पशुओं का भी खयाल रखती है : श्री मोदी

विडियो कॉंफ्रेंस के जरिये लाखों किसानों से मुख्यमंत्री का वार्तालाप: बजट में पशुपालन

और पशु स्वास्थ्य सेवाओं के लिए 350 करोड़ का आवंटन

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने कृषि महोत्सव और पशु स्वास्थ्य मेला अभियान के तीसरे दिन विडियो कॉंफ्रेंस द्वारा किसानों से सीधा वार्तालाप करते हुए कहा कि गुजरात में ग्रामीण अर्थव्यवस्था को ज्यादा मजबूत बनाने के लिए कृषि के साथ पशुपालन के वैज्ञानिक विकास को भी उतनी ही प्राथमिकता दी गई है। गुजरात में इस वर्ष बजट में पशु स्वास्थ्य सेवाओं और पशु संवर्धन के लिए 350 करोड़ का आवंटन किया गया है। दूध के उत्पादन में दस वर्ष में 66 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

कृषि महोत्सव के कारण किसान खेतीबाड़ी की सीमित अवस्था से बाहर आ पाए हैं। इसका उल्लेख करते हुए श्री मोदी ने कहा कि एक जमाने में खेती उत्तम मानी जाती थी मगर पिछले 50 सालों में खेती के प्रति उपेक्षा का माहौल बन गया था। दस वर्षों से शिक्षित युवा खेतीबाड़ी की आधुनिक प्रवत्तियां और डेयरी पशुपालन में नये प्रयोग करके प्रगतिशील किसान के रूप में गौरव हासिल कर रहे हैं।

गुजरात के पास बारहों मास बहनेवाली नदी नहीं है फिर भी खेती को समृद्ध बनाने के लिए आधुनिक खेती के साथ पशुपालन और फलों की खेती को समानांतर महत्व दिया गया है। श्री मोदी ने कहा कि गुजरात सरकार सिर्फ 6 करोड़ गुजरातियों की सुख सुविधाओं का ही खयाल नहीं रखती बल्कि ढाई करोड़ पशुओं का भी खयाल रखती है। अबतक 25000 पशु स्वास्थ्य मेलों में एक करोड़ से ज्यादा पशुओं का उपचार किया गया है। हर साल 2700 पशु मेले आयोजित होते हैं। अनेक पशुपालकों ने सरकार की पशुसंवर्धन योजना का लाभ लेकर दूध उत्पादन की आय में बढोतरी हासिल की है।

राज्य में पशुपालन के लिए सहकारी बैंकों के ऋणों को कृषि- पशुपालन के साथ जोड़ा गया है। राज्य सरकार द्वारा कामधेनु विश्वविद्यालय की स्थापना करके पशु हॉस्पिटल के लिए पशुधन विकास,स्वास्थ्य,संवर्धन,वैज्ञानिक संशोधन और कुशल मानव संसाधन विकास के अनेक कोर्स शुरु करने का श्री मोदी ने संकल्प जताया।

राज्य में 112 जितने पशु रोग सम्पूर्ण तौर पर खत्म हुए हैं, इसका उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कच्छ-काठियावाड की डेरियों को भूतकाल में ताले लगा दिए गए थे लेकिन इस सरकार ने सभी 6-6 जिले की डेरियों को सजीवन किया है। पशुपालकों को पशु स्वास्थ्य की सेवाएं तेजी से मिलती हैं। इसके लिए 57 नये पशु मोबाइल अस्पताल बनाए जाएंगे। उत्तम पशु बछड़ों के लिए वैज्ञानिक स्तर पर नये 80 क्रत्रिम गर्भाधान केन्द्र स्थापित किए जाएंगे। गीर गाय,कांकरेज गाय और जफराबादी भैंस के लिए उत्तम बछड़ों के लिए संशोधन के लिए 36 करोड़ का प्रोजेक्ट शुरू किया गया है।

अच्छी घास-चारे का बीज किट देने और पशुधन उत्पादन के लिए 30 करोड़ का आवंटन किया गया है जबकि स्वच्छ, व्यवस्थित पशु बाड़े के लिए 30 करोड़ का आवंटन किया गया है। इसके लिए राज्य सरकार 15 हजार तक की सहायता देती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि बन्नी भैंस के उत्तम शिशु का संवर्धन करने के लिए गुजरात सरकर ने इसको प्रोत्साहन देकर इसे राष्ट्रिय उत्तम पशु शिशु का दर्जा दिलवाया है।

श्री मोदी ने गौ सेवा आयोग को गौचर बोर्ड में तब्दील करके इसे राज्य में 1200 एकड़ जमीन में चारे के उत्पादन का वैज्ञानिक फार्म बनाने की घोषणा की। राजनैतिक झूठ फैलाने वालों को चुनौती देते हुए श्री मोदी ने कहा कि गुजरात में गौचर की जमीन बेच दी गई होती तो दूध के उत्पादन में 66 प्रतिशत वृद्धि कैसे होती?

मुख्यमंत्री ने गोबर बैंक और बायो गैस के पर्यावरणलक्ष्यी नये प्रयोग करने के लिए एनीमल हॉस्टल की दिशा अपनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि यह राजनैतिक अभियान नहीं है मगर चुनावों में जो मूक पशु वोट देनेवाले नहीं है उनका खयाल रखने के लिए सरकार के एक लाख जितने कर्मयोगी जी जान से जुटे हैं।

Explore More
आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी
Jan Dhan Yojana: Redefining Financial Inclusion the Narendra Modi Way

Media Coverage

Jan Dhan Yojana: Redefining Financial Inclusion the Narendra Modi Way
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने सभी लोगों को महाअष्टमी की बधाई दी
October 03, 2022
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने महाअष्टमी के पावन अवसर पर सभी लोगों को शुभकामनाएं दी हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि मां महागौरी की कृपा सभी के जीवन में सौभाग्य, समृद्धि और सफलता लाए। श्री मोदी ने मां महागौरी की स्तुति को भी साझा किया।

"वन्दे वाञ्छितकामार्थं चन्द्रार्धकृतशेखराम्।

सिंहारूढां चतुर्भुजां महागौरीं यशस्वीनीम्॥

महाअष्टमी की अनंत शुभकामनाएं। मां महागौरी हर किसी के जीवन में सौभाग्य, संपन्नता और सफलता लेकर आएं। माता के भक्तों के लिए उनकी यह स्तुति…"

 

वन्दे वाञ्छितकामार्थं चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
सिंहारूढां चतुर्भुजां महागौरीं यशस्वीनीम्॥

महा अष्टमी की अनंत शुभकामनाएं। मां महागौरी हर किसी के जीवन में सौभाग्य, संपन्नता और सफलता लेकर आएं। माता के भक्तों के लिए उनकी यह स्तुति…