साझा करें
 
Comments
कैबिनेट ने सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2016 को पेश करने की दी मंजूरी
कैबिनेट ने भारत में सरोगेसी के विनियमन के लिए केंद्रीय स्तर पर की राष्ट्रीय सरोगेसी बोर्ड की स्थापना
सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2016 देश में सरोगेसी सेवाओं को करेगा विनियमित
सरोगेसी विधेयक सरोगेसी में अपनाए जाने वाले अनैतिक तरीकों को करेगा नियंत्रित व सरोगेसी के वाणिज्यीकरण पर लगाएगा लगाम
सरोगेसी विधेयक, सरोगेट माँओं के संभावित शोषण और सरोगेसी के माध्यम से पैदा होने वाले बच्चों पर लगाएगा प्रतिबंध

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने ‘सरोगेसी (विनियमन) विधेयक, 2016’ के लिए अपनी मंजूरी दी है।

यह विधेयक केंद्रीय स्तर पर राष्ट्रीय सरोगेसी बोर्ड एवं राज्य सरोगेसी बोर्डों के गठन और राज्य एवं केंद्रशासित प्रदेशों में उपयुक्त प्राधिकारियों के जरिये भारत में सरोगेसी का नियमन करेगा। यह कानून सरोगेसी का प्रभावी विनियमन, वाणिज्यिक सरोगेसी की रोकथाम और जरूरतमंद बांझ दंपतियों के लिए नैतिक सरोगेसी की अनुमति सुनिश्चित करेगा।

नैतिक लाभ उठाने की चाहत रखने वाली सभी भारतीय विवाहित बांझ दंपतियों को इससे फायदा मिलेगा। इसके अलावा सरोगेट माता और सरोगेसी से उत्पन्न बच्चों के अधिकार भी सुरक्षित होंगे। यह विधेयक जम्मू-कश्मीर राज्य को छोड़कर पूरे भारत पर लागू होगा।

यह कानून देश में सरोगेसी सेवाओं को विनियमित करेगा जो उसका सबसे बड़ा फायदा होगा। हालांकि मानव भ्रूण और युग्मकों की खरीद-बिक्री सहित वाणिज्यिक सरोगेसी पर निषेध होगा, लेकिन कुछ खास उद्देश्यों के लिए निश्चित शर्तों के साथ जरूरतमंद बांझ दंपतियों के लिए नैतिक सरोगेसी की अनुमति दी जाएगी। इस प्रकार यह सरोगेसी में अनैतिक गतिविधियों को नियंत्रित करेगा, सरोगेसी के वाणिज्यिकरण पर रोक लगेगी और सरोगेट माताओं एवं सरोगेसी से पैदा हुए बच्चों के संभावित शोषण पर रोक लगेगा।

मसौदा विधेयक में किसी स्थायी ढांचे के सृजन का प्रस्ताव नहीं है। न ही उसमें किसी नए पद के सृजन का प्रस्ताव है। हालांकि प्रस्तावित कानून एक महत्वपूर्ण क्षेत्र को कवर करता है जिसे इस तरीके से तैयार किया गया है ताकि प्रभावी विनियमन सुनिश्चित हो सके। केंद्र और राज्य स्तर पर लागू वर्तमान नियामकीय ढांचे की ओर इसका अधिक झुकाव नहीं है। इसी प्रकार, राष्ट्रीय और राज्य सरोगेसी बोर्डों एवं उपयुक्त अधिकारियों की बैठक के अलावा इसमें कोई वित्तीय जटिलता भी नहीं है। केंद्र और राज्य सरकारों के नियमित बजट के बाद बोर्डों और अधिकारियों की बैठकें होंगी।

पृष्ठभूमिः

भारत विभिन्न देशों की दंपतियों के लिए सरोगेसी केंद्र के तौर पर उभरा है और यहां अनैतिक गतिविधियों, सरोगेट माताओं के शोषण, सरोगेसी से पैदा हुए बच्चों को त्यागने और मानव भ्रूणों एवं युग्मकों की खरीद-बिक्री में विचैलिये के रैकेट से संबंधित घटनाओं की सूचनाएं मिली हैं। पिछले कुछ वर्षों से भारत में चल रही वाणिज्यिक सरोगेसी की व्यापक निंदा करते हुए प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया में अभियान चलाया जा रहा है जिसमें वाणिज्यिक सरोगेसी पर रोक लगाने और नैतिक परोपकारी सरोगेसी को अनुमति दिए जाने की जरूरतों को उजागर किया गया है। भारत के विधि आयोग की 228वीं रिपोर्ट में भी उपयुक्त कानून बनाकर वाणिज्यिक सरोगेसी पर रोक लगाने और जरूरतमंद भारतीय नागरिकों के लिए नैतिक परोपकारी सरोगेसी की अनुमति की सिफारिश की गई है।

 

दान
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Narendra Modi ‘humbled’ to receive UAE's highest civilian honour

Media Coverage

Narendra Modi ‘humbled’ to receive UAE's highest civilian honour
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
List of MoU/Agreement exchanged during the visit of Prime Minister to Bahrain
August 25, 2019
साझा करें
 
Comments

 

 

Sl. No.Name of Agreement/ MoUsNodal Ministry /OrganizationIndian side byBahraini side by
1 Statement of Intent on collaboration between Indian Space Research Organisation and National Space Science Agency in the area of Space Technology ISRO S: Dr K. Sivan, Chairman, ISRO/Secretary, DoS
E: Shri T.S. Tirumurti, Secretary, ER
S: H.E. Mr Kamal bin Ahmed Mohammed, Minister of Transportation & Telecommunications and Chairman of NSSA
E: H.E. AbdulRahman Mohamed AlGaoud, Ambassador of Bahrain in New Delhi
2 Statement of Intent on collaboration of the Kingdom of Bahrain with International Solar Alliance (ISA) Ministry of New and Renewable Energy/ ISA S: Shri Alok Kumar Sinha, Ambassador of India to Bahrain
E: Shri T.S. Tirumurti, Secretary, ER
S: H.E. AbdulRahman Mohamed AlGaoud, Ambassador of Bahrain in New Delhi
E: H.E. AbdulRahman Mohamed AlGaoud, Ambassador of Bahrain in New Delhi
3 Cultural Exchange Programme between India and Bahrain Ministry of Culture S: Shri Alok Kumar Sinha, Ambassador of India to Bahrain
E: Shri Alok Kumar Sinha, Ambassador of India to Bahrain
S: H.E. AbdulRahman Mohamed AlGaoud, Ambassador of Bahrain in New Delhi
E: H.E. AbdulRahman Mohamed AlGaoud, Ambassador of Bahrain in New Delhi