साझा करें
 
Comments

जब महिलाओं की बात आती है, तो सुरक्षा की कल्पना आमतौर पर फिजिकल सेफ्टी और सिक्योरिटी के संदर्भ में की जाती है, इससे आगे नहीं। हालांकि नये भारत में सरकार ने महिलाओं के मुद्दों का समाधान करने के लिए फिजिकैलिटी से परे जाकर चीजों के बारे में अधिक समग्र दृष्टिकोण अपनाया है। अब सरकार ने एक व्यापक कार्यक्रम के तहत महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने पर बल दिया है जो सुरक्षा के पांच घटकों से संबंधित है : माँ और बच्चे की स्वास्थ्य सुरक्षा, सामाजिक सुरक्षा, वित्तीय सुरक्षा, शैक्षिक और वित्तीय कार्यक्रमों के माध्यम से भविष्य की सुरक्षा और महिलाओं की फिजिकल सेफ्टी।

मां और बच्चे का सुरक्षित स्वास्थ्य

कार्यक्रमों के एक समूह के माध्यम से इस योजना का उद्देश्य पर्याप्त पोषण और यहां तक कि कामकाजी महिलाओं के लिए पर्याप्त संख्या में मातृत्व अवकाश के माध्यम से गर्भावस्था से पहले, गर्भावस्था के दौरान और गर्भावस्था के बाद के चरणों में मां और बच्चे के पूर्ण स्वास्थ्य को सुनिश्चित करना है।

 

सामाजिक सुरक्षा और सशक्तिकरण

स्कूलों और सार्वजनिक स्थानों पर शौचालयों के निर्माण, आवास में प्राथमिकता देने, मुफ्त गैस सिलेंडर के माध्यम से धुआं रहित रसोई सुनिश्चित करने, उनके पक्ष में पासपोर्ट नियमों को बदलने और ट्रिपल तलाक पर विधायी पहल जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से सरकार ने यह सुनिश्चित किया कि महिला सशक्तिकरण अब केवल एक नारा न रहे।

 

वित्तीय सुरक्षा और सशक्तिकरण

नये भारत की महिला की वित्तीय जरूरतों को समझते हुए इस सरकार ने महिलाओं के बीच उद्यमशीलता को प्रोत्साहित करने के लिए संस्थागत ऋण, आर्थिक रूप से बालिकाओं के भविष्य को सुरक्षित करने, ग्रामीण क्षेत्रों में स्वयं सहायता समूहों के उत्थान को प्रोत्साहित करते हुए बैंकिंग और वित्तीय संस्थानों तक पहुंच बनाना और कामकाजी महिलाओं के लिए उच्च वेतन सुनिश्चित किया है।

 

बालिकाओं का सुरक्षित भविष्य

ऐतिहासिक पहल के माध्यम से सरकार ने लोगों की मानसिकता को बदलने के लिए एक ऐसी संस्कृति को प्रोत्साहित करने का प्रयास किया है, जहां बेटी का जन्म गर्व की बात है और बालिका शिक्षा शिक्षा को प्राथमिकता के रूप में लिया जाता है। उनके नाम पर बैंक खाते खोलना, उनके भविष्य को आर्थिक रूप से सुरक्षित बनाता है।

 

महिला सुरक्षा

आज महिला सुरक्षा की गंभीरता को समझते हुए सरकार ने तत्काल सुरक्षा अलर्ट के लिए फोन बेस्ड एप्लीकेशन के साथ-साथ ऑनलाइन सहित कई प्लेटफार्मों पर शिकायत दर्ज करने में सक्षम बनाते हुए चाइल्ड रेप और ट्रैफिकिंग के खिलाफ सख्त कानून बनाया है, जो सभी को सुरक्षा देने के प्रति समर्पित है।

इस प्रकार, उपरोक्त उपायों के माध्यम से सरकार ने महिलाओं की सुरक्षा के विचार को अधिक व्यापक सुरक्षा प्रतिमान में विस्तारित किया है, जहां वे अपने सपनों को आगे बढ़ाने के लिए सेफ, सिक्योर और स्वतंत्र महसूस करती हैं।

मोदी मास्टरक्लास : पीएम मोदी के साथ 'परीक्षा पे चर्चा'
प्रधानमंत्री मोदी के मन की बात कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
Explore More
बिना किसी तनाव के उत्सव मूड में परीक्षा दें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

बिना किसी तनाव के उत्सव मूड में परीक्षा दें: पीएम मोदी
PM Narendra Modi’s Japan visit: Making the most of diplomatic opportunity

Media Coverage

PM Narendra Modi’s Japan visit: Making the most of diplomatic opportunity
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री मोदी ने नॉर्थ ईस्ट के रंगों को संवारा
March 22, 2019
साझा करें
 
Comments

प्रचुर प्राकृतिक उपलब्धता, विविध संस्कृति और उद्यमी लोगों से भरा नॉर्थ ईस्ट संभावनाओं से भरपूर है। इस क्षेत्र की क्षमता की पहचान करते हुए मोदी सरकार सेवन सिस्टर्स राज्यों के विकास में एक नया जोश भर रही है।

" टिरनी (Tyranny) ऑफ डिस्टेंस" का हवाला देते हुए इसके आइसोलेशन का कारण बताते हुए इसके विकास को पीछे धकेल दिया गया था। हालांकि अतीत को पूरी तरह छोड़ते हुए मोदी सरकार ने न केवल क्षेत्र पर ध्यान केंद्रित किया है, बल्कि वास्तव में इसे एक प्राथमिकता वाला क्षेत्र बना दिया है।

नॉर्थ ईस्ट की समृद्ध सांस्कृतिक राजधानी को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा फोकस में लाया गया है। जिस तरह से उन्होंने क्षेत्र की अपनी यात्राओं के दौरान अलग-अलग हेडगेअर्स पहना, उससे यह सुनिश्चित होता है कि क्षेत्र के सांस्कृतिक महत्व पर प्रकाश डाला गया है। प्रधानमंत्री मोदी ने भारत के नॉर्थ ईस्ट की अपनी यात्रा के दौरान यहां कुछ अलग-अलग हेडगेयर्स पहने!