साझा करें
 
Comments

शंघाई सहयोग संगठन (एससीओ) परिषद के देशों की 21वीं शिखर बैठक 17 सितंबर 2021 को ताजिकिस्तान की राजधानी दुशांबे में हाइब्रिड फॉर्मेट में होगी। इस बैठक की अध्यक्षता ताजिकिस्तान के राष्ट्रपति इमोमाली रहमान करेंगे। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करेंगे और वीडियो लिंक के माध्यम से शिखर सम्मेलन के पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करेंगे। दुशांबे में भारत का प्रतिनिधित्व विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर करेंगे। एससीओ शिखर सम्मेलन में एससीओ सदस्य देशों के नेता, पर्यवेक्षक स्टेट्स, एससीओ के महासचिव, एससीओ क्षेत्रीय आतंकवाद विरोधी संरचना (आरएटीएस) के कार्यकारी निदेशक, तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति और अन्य अतिथि शामिल होंगे।

हाइब्रिड फॉर्मेट में आयोजित होने वाला यह पहला एससीओ शिखर सम्मेलन और चौथा ऐसा सम्मेलन है, जिसमें भारत एससीओ के पूर्ण सदस्य के रूप में हिस्सा लेगा। इस सम्मेलन का महत्व इसलिए भी बढ़ गया है क्योंकि यह संगठन इस साल अपनी 20वीं वर्षगांठ मना रहा है। शिखर सम्मेलन में, नेताओं के पिछले दो दशकों में संगठन की गतिविधियों की समीक्षा करने और देश व भविष्य के सहयोग की संभावनाओं पर चर्चा की उम्मीद है। इस दौरान क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय महत्व के सामयिक मुद्दों पर भी चर्चा हो सकती है।

Explore More
आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

आज का भारत एक आकांक्षी समाज है: स्वतंत्रता दिवस पर पीएम मोदी
Indians Abroad Celebrate 74th Republic Day; Greetings Pour in from World Leaders

Media Coverage

Indians Abroad Celebrate 74th Republic Day; Greetings Pour in from World Leaders
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री 28 जनवरी को भगवान श्री देवनारायण जी के 1111वें ‘अवतरण महोत्सव’ समारोह को संबोधित करेंगे
January 27, 2023
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी 28 जनवरी को सुबह 11:30 बजे राजस्थान के भीलवाड़ा में भगवान श्री देवनारायण जी के 1111वें ‘अवतरण महोत्सव’ समारोह को संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री मुख्य अतिथि होंगे।

भगवान श्री देवनारायण जी राजस्थान के लोगों के पूज्य हैं और उनके अनुयायी देश भर में फैले हुए हैं। विशेष रूप से सार्वजनिक सेवा के क्षेत्र में उनके कार्यों के लिए उनका सम्मान किया जाता है।