Share
 
Comments
In the last four years, the BJP Government at the Centre, has worked for greater recognition, and spread of Indian culture and traditions, far and wide: PM Modi
I feel a deep sense of anguish, when I see the leaders of the Congress party, abuse the same traditions: PM Modi
Congress party which once governed most Indian States, is now restricted to just two or three States. Now, the people of Mizoram, have a golden opportunity to rid themselves of this Congress culture: PM
The double engine of BJP Governments in both the Centre and the State will take Mizoram to new heights: PM Modi

मंच पर विराजमान भारतीय जनता पार्टी के सभी नेतागण और इस चुनाव में भारतीय जनता पार्टी के समाज सेवा को समर्पित ऐसे उम्मीदवार…डॉ. ऐछुंगा, श्रीमान एच. लालरुआता, श्रीमान सी. एस. चवाङ्ग्छुमा, श्रीमान रामदीनजउवा, श्रीमान जोसफ लालजाव्मलियान, श्रीमान लालनूपुईया चौंगथो, श्रीमान किना रंजन चकमा...       Friends, it is always a pleasure to visit this part of the country. In the last 4 years, I’ve travelled to different states of North-East 27 times. Last December, during my visit to Mizoram I had the opportunity to dedicate the Tuirial Hydro Electric Power Plant to the people of this region. Today, I come seeking your blessings for the Bharatiya Janata Party.

Brothers and Sisters, मिजोरम के पास एक समृद्ध संस्कृति है, परंपरा है, जिसको आप सभी ने संजो कर रखा है। आपका गीत, संगीत, नृत्य, आपका खान-पान, आपका पहनावा शानदार है, अद्भुत है। इसमें प्रकृति से जुड़े हर रंग हैं, खुशी के हर पल हैं। Brothers and Sisters, मेरा खुद का ये मानना रहा है कि समृद्ध वही होता है जो अपनी जड़ों से जुड़ा रहता है, अपनी संस्कृति, अपनी भाषा, अपनी परंपरा का आदर करता है।

This is my vision, my thought, not just for Mizoram but for the entire country. That is why, in the last 4 years the BJP government at the Centre has worked for greater recognition and spread of Indian culture and tradition far and wide. But friends, I feel a deep sense of anguish when I see the leaders of the Congress party abuse the same traditions.          

आप सभी को विशेष तौर पर यहाँ के नौजवानों को याद होगा कि कुछ महीने पहले कांग्रेस के नेताओं ने कैसे नॉर्थ-ईस्ट के पहनावे का अपमान किया था। नॉर्थ-ईस्ट में अलग-अलग जगहों पर मुझे जो स्थानीय वेश-भूषा दी जाती है उसको ये outlandish बताते हैं, अजीबो-गरीब बताते हैं। यहाँ आकर बड़ी-बड़ी बातें करने वाले कांग्रेस नेताओं की यही सच्चाई है। Brothers and Sisters, कांग्रेस का इतने वर्षों का शासन गवाह है कि इसके लिए आपकी भावनाएँ, आपकी उम्मीदें, आपकी आकांक्षाएँ कोई मायने नहीं रखतीं। कांग्रेस को जमीन पर जंगलों के बीच बसे भारत की असली विरासत से भी कोई सरोकार नहीं है। कांग्रेस के लिए प्राथमिकता आपलोग नहीं, मिजोरम के लोग नहीं, बल्कि सरकार की कुर्सी है जिसे बचाने के लिए वो लोगों को तरह-तरह के डर दिखाती है। मिजोरम से लेकर मध्य प्रदेश तक, छत्तीसगढ़ से लेकर राजस्थान तक उसकी यही कहानी है। भ्रष्टाचार और भाई-भतीजावाद के आरोपों से घिरी अपनी सरकार को बचाने के लिए कांग्रेस यहाँ भी इसी फॉर्मूले पर चल रही है।

Sisters and Brothers, our country has now understood this Congress formula of divide and rule. That is why, the Congress party which once governed most Indian states is now restricted to just 2 or 3 states. Now, the people of Mizoram have a golden opportunity to read themselves of this Congress culture.

Sisters and Brothers, भारतीय जनता पार्टी सिर्फ और सिर्फ देश के विकास को ध्येय बनाकर के आगे बढ़ रही है। हमारा मंत्र है ‘सबका साथ सबका विकास’। हमारा ये भी commitment है कि मीजो समाज को संविधान में जो भी अधिकार मिले हैं, उनकी हर कीमत पर रक्षा की जाएगी।

Sisters and Brothers, Act East and Act fast for India’s East की पॉलिसी पर चलते हुए बीते साढ़े चार वर्ष में हमने नॉर्थ-ईस्ट के हर क्षेत्र को विकास से जोड़ा है। भाजपा और उसके सहयोगियों के प्रयासों को नॉर्थ-ईस्ट के लोगों ने भी सराहा, स्वीकार किया है। बम-बंदूक, बंद और ब्लॉकेड के दौर से अब नॉर्थ-ईस्ट आगे बढ़ चुका है। आज हर कोई अनुभव कर रहा है कि ईटानगर से आईजॉल तक, कोहिमा से कामरूप तक आपसी सद्भाव की भावना मजबूत हुई है।

Sisters and Brothers, केंद्र और राज्य सरकार के डबल इंजन ने अब नॉर्थ-ईस्ट के तमाम राज्यों के विकास की गति को और बढ़ा दिया है। अब मिजोरम के लोगों की बारी विकास की इस मुख्यधारा से जुड़ने की है। Sisters and brothers, जब शांति होती है तो विकास के नए द्वार खुलते हैं। भाजपा पर आप सभी का, मिजोरम का, नॉर्थ-ईस्ट का भरोसा इसलिए है क्यूंकि हमने इस हिस्से को शेष भारत से कनेक्ट किया, पूर्वी एशियाई देशों के साथ अपने सम्बन्धों को मजबूत करने का गेट वे बनाया।

27 मई 2016 का दिन क्या मिजोरम भूल सकता है जब हमारा यह राज्य पहली बार ब्रॉड गेज रेल लाइन से जुड़ा था? मुझे आज भी आपके चेहरों पर आई वो खुशी याद है जब मैंने सिलचर-भैराबी डेली पैसेंजर एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई थी। अब तो करीब 5 हजार करोड़ रुपये की लागत से भैराबी से सैरांग के लिए नई ब्रॉड गेज लाइन पर भी तेजी से काम हो रहा है और अगले एक-डेढ़ वर्ष में इसको भी पूरा करने का प्रयास किया जा रहा है।

Sisters and Brothers, भारत का सम्पूर्ण विकास तभी संभव है जब हमारा ये पूर्वी हिस्सा विकसित होगा। और इसलिए, भाजपा नॉर्थ-ईस्ट के विकास के लिए समर्पित है। विशेष तौर पर कनेक्टिविटी, हाईवे, रेलवे, एयर वे, वॉटर वे और आई वे (इन्फॉर्मेशन वे) पर हमारा फोकस है। Transformation through transportation यहाँ के विकास के लिए हमारा प्रमुख एजेंडा है। इसी पर चलते हुए करीब 90,000 करोड़ रुपये नॉर्थ-ईस्ट के इन्फ्रास्ट्रक्चर पर खर्च किए जा रहे हैं। बीते 4 वर्षों के दौरान, 1000 किलोमीटर रेल लाइन को ब्रॉड गेज में बदला जा चुका है। करीब 50 हजार करोड़ की लागत से 15 नई रेलवे लाइनें बिछाई जा रही हैं। नॉर्थ-ईस्ट राज्यों की हर राजधानी को ब्रॉड गेज से जोड़ने का अभियान चल रहा है।

Sisters and Brothers, भाजपा की सरकार गति पर भी ध्यान देती है और प्रगति पर भी। जब केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी तो उस दरम्यान नॉर्थ-ईस्ट में हर साल करीब 100 किलोमीटर रेल लाइन बनती थी या ब्रॉड गेज में बदली जाती थी। अब जब केंद्र में भाजपा की सरकार है तो इन्हीं कामों की गति तीन गुना से ज्यादा बढ़ गई है।

Sisters and Brothers, इसके अलावा नॉर्थ-ईस्ट में नए एयरपोर्ट बनाए जा रहे हैं, पुराने एयरपोर्ट्स या हेलीपैड्स को अपग्रेड किया जा रहा है, उनको उड़ान योजना से जोड़ा जा रहा है। 5,000 किलोमीटर से अधिक लंबाई के नेशनल हाईवे बन रहे हैं, करीब 5,000 करोड़ रुपये के टेलीकॉम प्रोजेक्ट्स चल रहे हैं। इसमें से भी अकेले मिजोरम में बीते 4 वर्षों में करीब पौने दो सौ किलोमीटर नेशनल हाईवे बनाए गए हैं जबकि 200 किलोमीटर स्टेट हाईवे को नेशनल हाईवे में बदला गया है। मिजोरम के 50 बड़े रोड प्रोजेक्ट्स पर केंद्र सरकार करीब 8,000 करोड़ रुपये खर्च कर रही है।

Sisters and Brothers, इन्फ्रास्ट्रक्चर पर जो अभूतपूर्व खर्च नॉर्थ-ईस्ट में हो रहा है, उससे रोजगार के हजार अवसर भी बन रहे हैं। यहाँ के इंजीनीयर हों, सर्वेयर हों, गाड़ी वाले हों, ट्रक-ट्रॉली वाले हों, कामगार हों, अनेक तरह के रोजगार की संभावनाएं यहाँ मिजोरम में भी बनी है। Sisters and Brothers, कनेक्टिविटी बेहतर होने से आपका जीवन तो आसान होता ही है, ईज ऑफ लिविंग तो बढ़ती ही है, इसका बहुत बड़ा प्रभाव टूरिज्म सेक्टर पर पड़ता है। आने वाले समय में जब कनेक्टिविटी से जुड़ी परियोजनाएं पूरी होंगी तो टूरिस्टों की संख्या और बढ़ेगी और इसका सीधा मतलब है आपके लिए, यहाँ के नौजवानों के लिए रोजगार के हजारों नए अवसर भी बनेंगे। मैं मिजोरम के युवाओं से आज विशेष तौर पर कहना चाहूंगा कि वो उसका पूरा लाभ उठाएँ। इसके अलावा यहाँ के जो युवा अपना स्टार्ट अप शुरू करना चाहते हैं, उसके लिए वे 100 करोड़ रुपये के नॉर्थ-ईस्ट वेंचर फंड का भी उपयोग कर सकते हैं। पिछली बार जब मैं मिजोरम आया था तो यहीं के कुछ युवाओं को चेक सौंप कर मैंने इसकी शुरुआत की थी।

Sisters and Brothers, नॉर्थ-ईस्ट में इतना काम हो रहा है लेकिन यहाँ भी कांग्रेस सरकार की वजह से मिजोरम इसका पूरा लाभ नहीं उठा पा रहा है। सच्चाई ये है कि यहाँ की कांग्रेस सरकार को आप सभी की जरा भी चिंता नहीं है। कांग्रेस विकास की नहीं, लटकाने, अटकाने और भटकाने के कल्चर वाली पार्टी है। इनके लिए भ्रष्टाचार ही राजनीति का आधार है। इसके कुछ उदाहरण मैं आपको देता हूँ। Brothers and Sisters, करीब 250 करोड़ रुपये रिलीज भी किए जा चुके हैं लेकिन यहाँ की कांग्रेस सरकार के कारनामे सुनकर आप हैरान रह जाएंगे। Brothers and Sisters, आपके विकास के लिए दिए गए करीब सवा सौ करोड़ रुपये यहाँ की कांग्रेस सरकार ने खर्च ही नहीं किए। इतना ही नहीं जो खर्च हुए उसका utilization सर्टिफिकेट यानि पैसे कहाँ गए, कहाँ खर्चा किया, क्या किया, इसका हिसाब भी ये कांग्रेस की मिजोरम की सरकार अभी तक दे नहीं पाई है।

Brothers and Sisters, ये यहाँ की सरकार का काम करने का तरीका है। मुझे बताया गया है कि यहाँ पर राज्य सरकार जो ठेके देती है उसमें भी बड़े-बड़े खेल किए जाते हैं, जमकर के भाई-भतीजावाद चलता है। आखिर ये कांग्रेस की सरकार आपके लिए चल रही है या कांग्रेस नेताओं के रिश्तेदारों के लिए चलती है? भाइयो-बहनो, आज मिजोरम में स्थिति ये है कि केंद्र सरकार की सहायता से चल रहे करीब 46 प्रोजेक्ट्स में से 28 प्रोजेक्ट तय समय से बहुत लेट चल रहे हैं। इसके अलावा नॉर्थ-ईस्टर्न काउंसिल, एनईसी योजना के तहत चल रहे 36 प्रोजेक्ट्स में से 20 प्रोजेक्ट्स तय समय से पीछे चल रहे हैं। कांग्रेस का यही वर्किंग कल्चर है जिसके चलते यहां इनफ्रास्ट्रक्चर की स्थिति खराब है, सड़कें बेहाल हैं जबकि बगल में मणिपुर, अरुणाचल और असम जैसे राज्यों में गाँव हो या शहर, चमचमाती सड़कें आज बनने लगी हैं।   

Sisters and Brothers, मिजोरम में सड़कों का ये हाल तब है जब मुख्यमंत्री खुद पीडब्ल्यूडी के मिनिस्टर हैं। बरसों से पीडब्ल्यूडी मंत्रालय मुख्यमंत्री के पास है। आपलोग ही आरोप लगाते हैं कि कांग्रेस से जुड़े ठेकेदारों को एक बार कॉन्ट्रैक्ट दे दिया तो फिर मुख्यमंत्री को उधर की तरफ झाँकने की फुर्सत ही नहीं है कि कितना काम हुआ, कैसा काम हुआ, कोई लेना-देना नहीं। Brothers and Sisters, सड़क के साथ बिजली की हालत भी खस्ता है और यह विभाग भी स्वयं मुख्यमंत्री जी के पास है। गाँव-गाँव में लोग बिजली की कटौती से परेशान हैं। मिजोरम में बिजली पैदा करने की बहुत क्षमता होने के बावजूद यहाँ के लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

Sisters and Brothers, कांग्रेस की नीयत ठीक रहती तो Tuirial डैम बहुत पहले बन चुका होता। इस डैम को अटल बिहारी वाजपेयी जी की अगुआई वाली सरकार ने 1998 में मंजूरी दी थी। उसके बाद कांग्रेस की सरकारें उसको लटकाने में लगी रहीं और पिछले साल दिसंबर में ये डैम हमने आप सभी को, देश की इस जनता को समर्पित भी कर दिया। इस डैम की पूरी क्षमता से संचालित होने के बाद मिजोरम, सिक्किम और त्रिपुरा के बाद नॉर्थ-ईस्ट में तीसरा पावर सरप्लस राज्य बनने की तरफ हमारा मिजोरम आगे बढ़ सकता है।

Brothers and Sisters, कांग्रेस में अपना-पराया देखकर ही योजनाएं बनती हैं, अपने ही लोगों का काम कांग्रेसी करवाते हैं, जो इनको वोट देते हैं, उन्हीं को योजनाओं का लाभ भी देते हैं। कांग्रेस के कल्चर का उदाहरण New Land Use Policy भी है। इसके माध्यम से कांग्रेस ने कैसे अपने लोगों को सरकारी खजाने से पैसे बांटे हैं, इसका पूरा कच्चा चिट्ठा CAG ने खोला है और देश भर के अखबारों ने छापा है। Sisters and Brothers, इस योजना पर सवाल उठे तो New Economic Development Programme यानि NEDP नाम से एक और योजना ले आए। लोग कह रहे हैं कि इसमें भी अपने लोगों को ठेके देने का गोरखधंधा चल रहा है। गरीबों के नाम पर कांग्रेस नेताओं के करीबियों को फायदा पहुंचाया जा रहा है।

Sisters and Brothers, एक तरफ कांग्रेस अपने करीबियों के लिए योजनाएं बनाती है तो वहीं भाजपा देश के सामान्य जन के लिए। हम देश के संतुलित विकास के लिए, सबके विकास के लिए, बिना भेद-भाव विकास के लिए काम कर रहे हैं। इस समय देश भर में गरीब बहनों को, आदिवासी बहनों को मुफ्त गैस देने की उज्ज्वला योजना चल रही है। इस योजना के तहत देश में करीब 6 करोड़ गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। मिजोरम में भी करीब 25 हजार परिवारों को धुएँ से मुक्ति मिली है और उनको उज्ज्वला के तहत गैस का कनेक्शन मिला है। इसी तरह जन धन योजना के माध्यम से केंद्र सरकार ने देश भर के 32 करोड़ से अधिक लोगों का बैंक में खाता खुलवाया। मुझे खुशी है कि 10-11 लाख की जनसंख्या वाले मिजोरम के करीब 3 लाख भाई-बहनों का बैंक अकाउंट इस योजना के तहत खोला गया है।

इसी प्रकार, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना और प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना को अपनाने में भी मिजोरम के जन-जन आगे हैं। देश भर में करीब 20 करोड़ लोग इन दोनों योजनाओं से जुड़े हैं, जिसमें सवा लाख से अधिक लोग मिजोरम के हैं। Sisters and Brothers, देश भर में गरीबों को अपना घर देने का बहुत बड़ा अभियान चल रहा है। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पूरे देश में सवा करोड़ से अधिक गरीब, बेघर परिवारों के लिए अपना घर बनाकर के उनको चाबी दे दी गई है। लेकिन मिजोरम सरकार गरीबों को घर देने को लेकर के जरा भी गंभीर नहीं है। केंद्र के बार-बार आग्रह के बावजूद यहाँ की सरकार गरीबों को घर दिलवाने के लिए हमें कोई सहयोग नहीं कर रही है। गाँव और गरीब के प्रति इसी बेरुखी के चलते इस सरकार का जाना अब जरूरी है।

Sisters and Brothers, मिजोरम को तो प्रकृति ने भी भरपूर संसाधन दिए हैं। आइजॉल हो, चंपाई हो, कोलासिब हो, लौंगतलाई हो, ऐसे अनेक इलाके bamboo के जंगलों से भरे पड़े हैं। यहाँ का bamboo dance तो सारी दुनिया में मशहूर ही है। ये bamboo आपकी आय का भी बहुत बड़ा माध्यम रहा है। लेकिन इसके प्रति कांग्रेस का रवैया कैसा रहा है, ये भी आप सबको भली-भांति जानना चाहिए। कांग्रेस की सरकार जब तक केंद्र में थी तब तक गैर-वन क्षेत्रों में bamboo को काटने और उसका व्यापार करने पर भी रोक थी। इस वजह से आपको कितनी दिक्कत होती थी लेकिन कांग्रेस ने कभी इसकी परवाह नहीं की। Sisters and Brothers, जब केंद्र में भाजपा की सरकार आई तो हमने कानून बदला और bamboo को पेड़ की बजाए grass की श्रेणी में ले आए। अब मिजोरम के बहन-भाई अपने खेत में bamboo उगा कर इससे बड़े सामान, पंखे, फर्नीचर, पर्दे और दूसरी कलाकृतियाँ आसानी से बना सकते हैं, बनाकर के बेच सकते हैं।  

Brothers and Sisters, भाजपा का विजन संसाधन और संस्कृति के विकास का तो है ही, देश को स्पोर्टिंग पावर बनाने का भी है। इसमें भी नॉर्थ-ईस्ट की बड़ी भूमिका है। बीते 3-4 वर्षों से आपने देखा होगा कि चाहे वो एशियाड हो, कॉमनवेल्थ गेम्स हो, भारत का प्रदर्शन ऐतिहासिक रहा है। अभी जो वर्ल्ड वीमेन बॉक्सिंग चैम्पियनशिप चल रही है, इसमें भी नॉर्थ-ईस्ट का डंका बज रहा है। Sisters and Brothers, मिजोरम में भी टैलेंट भरपूर है। ये फुटबॉल का बड़ा सेंटर है। यहाँ के लिए तो ये तक कहा जाता है कि बच्चा किक मारना पहले सीखता है और रोटी मांगना बाद में। ये टैलेंट देश के काम आए इसके लिए यहाँ सुविधाएं विकसित करने के लिए भाजपा प्रतिबद्ध है। मिजोरम की फुटबॉल टीम देश की सबसे बेहतरीन टीमों में से तो है ही, भारत की राष्ट्रीय टीम के भी बहुत सारे खिलाड़ी यहीं अपने मिजोरम से हैं। फुटबॉल मिजोरम का पैशन है। जब यहाँ भाजपा सरकार बनेगी तो उसे घर-घर का पैशन बनाने के लिए और साथ ही यहाँ के टैलेंट को ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर ले जाने का भी काम करेगी। फुटबॉल के विकास के लिए भी बीते 4 वर्षों में सरकार ने गंभीर प्रयास किए हैं। पिछले वर्ष ही, भारत में पहली बार अंडर-17 वर्ल्ड कप हुआ था। इसके आयोजन की तारीफ दुनिया भर में हुई थी। Brothers and Sisters, स्पोर्ट्स हो, संस्कृति हो, संसाधन हो, सुरक्षा हो या फिर स्वाभिमान, भाजपा की सरकार देश और समाज से जुड़े हर पहलू पर ध्यान दे रही है।

Brothers and Sisters, to speed up the development of Mizoram and to provide a corruption-free government in the state, the BJP seeks your blessings and your support. That double engine of BJP government in both the Centre and the State will take Mizoram on to new heights.

आप यहाँ भारी संख्या में मुझे और सभी उम्मीदवारों को आशीर्वाद देने के लिए आए, इसलिए हृदय से मैं आपका बहुत-बहुत धन्यवाद करता हूँ। बहुत-बहुत धन्यवाद।

donation
Explore More
It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi

Popular Speeches

It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi
An Activist Speaks: A First Hand Account Of Varanasi’s Transformation

Media Coverage

An Activist Speaks: A First Hand Account Of Varanasi’s Transformation
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Social Media Corner 9 December 2018
December 09, 2018
Share
 
Comments

New India praises PM Modi as UjjwalaYojana helps in reducing household pollution

New India shares stories of transformation under the Modi Government

 I’m a solo female traveler on a train in remote Madhya Pradesh. All of the men in this compartment are taking care of me, making sure I get water, chai, and breakfast — poha in a newspaper packet. Very moving and humbling experience. #IncredibleIndia #HeartofIndia #MPTourism pic.twitter.com/WPmOhXMoYM