பகிர்ந்து
 
Comments

गुजरात के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी के अनुसार स्वामी विवेकानंद का वैश्विक बंधुत्व संदेश आज की विकराल आतंकवाद समस्या का हल है। श्री मोदी ने अपने ब्लॉग में लिखा है कि स्वामी विवेकानंद ने 11 सितम्बर 1993 में शिकागो में विश्व धर्म संसद में वैश्विक बंधुत्व का संदेश दिया था और हम इसे दिग्विजय दिवस के रूप में मनाते हैं। उन्होंने सभी से दिग्विविजय दिवस पर उनके संदेश के अनुसरण की अपील की है।

श्री मोदी के अनुसार यदि दुनिया ने वैश्विक बंधुत्व का संदेश माना होता तो सौ साल बाद अमरीका में वल्र्ड ट्रेड सेन्टर पर आतंककारी हमले जैसी विभीषिका का सामना नहीं करना पड़ता। यह विडम्बना है कि आतंकवाद की समस्या के हल का रास्ता दिखा सकने वाले ऎसे दर्शन को ही "भगवा आतंकवाद" करार दिया जा रहा है। और ऎसा करने वाले कोई और नहीं भारत के गृहमंत्री हैं। श्री मोदी ने याद दिलाया है कि स्वामी विवेकानंद ने न केवल वैश्विक बंधुत्व का आ±वान किया था बल्कि यह भी याद दिलाया कि समेकित पहल के बिना यह सम्भव नहीं होगा। आज मानवता समेकित पहल के अभाव में त्रिस्तरीय चुनौतियों का सामना कर रही है। ये चुनौतियां विविध आस्थाओं व सभ्यताओं का सह-अस्तित्व, प्रकृति से सामान्जस्य के साथ विज्ञान व अर्थव्यवस्था का टिकाऊ विकास तथा संघर्षरत व प्रतिद्वन्दी राष्ट्रीयताओं में सहनशीलता से सम्बन्धित हैं।

श्री मोदी के अनुसार इन सभी चुनौतियों का एकमात्र हल समृद्ध सभ्यता में निहित मूल्यों पर आधारित शक्तिशाली भारत देश है। हमारे संतों का सर्वे भवन्तु सुखिन: --------- का उपदेश एकमात्र रास्ता है। यह शायद आज पहले से भी ज्यादा प्रासंगिक है। जहां तक आज की दुनिया में इसके सम्भव होने का सवाल है तो हम इसे गुजरात में साकार करने की हर सम्भव कोशिश कर रहे हैं और वह इन प्रयासों के परिणामों से खुश हैं। समेकित विकास का गुजरात प्रारूप मूलत: विशुद्ध भारतीय प्रारूप है। हर तरह की परिस्थिति में इस प्रारूप को अपना गुजरात पूर्वोल्लेखित त्रिस्तरीय चुनौतियों का सफलतापूर्वक सामना कर रहा है। यदि दुष्प्रेरित झूठों में छिपे तथ्यों को देखा जाए तो स्पष्ट हो जाता है कि गुजरात की तुष्टीकरण नहीं बल्कि उपलब्धि आधारित नीति के सकारात्मक परिणाम आए हैं।

 

இந்தியாவின் ஒலிம்பிக் வீரர்களை ஊக்குவிக்கவும்!  #Cheers4India
Modi Govt's #7YearsOfSeva
Explore More
’பரவாயில்லை இருக்கட்டும்’ என்ற மனப்பான்மையை விட்டு விட்டு “ மாற்றம் கொண்டு வரலாம்” என்று சிந்திக்கும் நேரம் இப்போது வந்து விட்டது : பிரதமர் மோடி

பிரபலமான பேச்சுகள்

’பரவாயில்லை இருக்கட்டும்’ என்ற மனப்பான்மையை விட்டு விட்டு “ மாற்றம் கொண்டு வரலாம்” என்று சிந்திக்கும் நேரம் இப்போது வந்து விட்டது : பிரதமர் மோடி
PM Modi responds to passenger from Bihar boarding flight for first time with his father from Darbhanga airport

Media Coverage

PM Modi responds to passenger from Bihar boarding flight for first time with his father from Darbhanga airport
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
டோக்கியோ ஒலிம்பிக் போட்டிகள் 2020 -ன் பளுதூக்கும் பிரிவில் வெள்ளிப் பதக்கம் வென்ற மீராபாய் சானுவிற்கு பிரதமர் பாராட்டு
July 24, 2021
பகிர்ந்து
 
Comments

டோக்கியோ ஒலிம்பிக் போட்டிகள் 2020 -ன் பளுதூக்கும் பிரிவில் வெள்ளிப் பதக்கம் வென்ற மீராபாய் சானுவிற்கு பிரதமர் திரு நரேந்திர மோடி பாராட்டு தெரிவித்துள்ளார்.

“டோக்கியோ ஒலிம்பிக் போட்டிகள் 2020-ற்கு இதைவிட ஒரு மகிழ்ச்சியான துவக்கத்தை கோரியிருக்க முடியாது. மீராபாய் சானுவின் மாபெரும் செயல்திறனால் இந்தியா குதூகலம் அடைந்துள்ளது. பளுதூக்கும் பிரிவில் வெள்ளிப் பதக்கம் வென்றதற்காக அவருக்கு வாழ்த்துகள். அவரது வெற்றி ஒவ்வொரு இந்தியருக்கும் ஊக்கமளிக்கிறது.   #Cheer4India #Tokyo2020”, என்று பிரதமர் தமது சுட்டுரைச் செய்தியில் குறிப்பிட்டுள்ளார்.