Share
 
Comments
PM Modi chairs eleventh interaction through #PRAGATI
#PRAGATI: PM Modi reviews the progress towards handling and resolution of public grievances
Grievance redressal is one of the biggest aspects of democracy, says PM Modi #PRAGATI
#PRAGATI: PM Modi reviews the progress of vital infrastructure projects in the road, railway, power, and oil sectors
#PRAGATI: PM Modi calls for integration of all land records with #Aadhaar at the earliest
#PRAGATI: PM Modi reviews status of Widow Pension Programme & the progress towards eradication of leprosy

The Prime Minister, Shri Narendra Modi, today chaired his eleventh interaction through PRAGATI - the ICT-based, multi-modal platform for Pro-Active Governance and Timely Implementation.

The Prime Minister reviewed the progress towards handling and resolution of public grievances. Urging the officers to further speed up the pace of work in this regard, Shri Narendra Modi emphasized that grievance redressal is one of the biggest aspects of democracy. He called for focused action within the next one month, to ensure that barring exceptions, grievances are disposed off within 60 days. He reiterated his directive for top officers to intervene in this matter.

The Prime Minister reviewed the progress of vital infrastructure projects in the road, railway, power, and oil sectors, spread over several states including Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Haryana, Rajasthan, Gujarat, Maharashtra, Karnataka, Uttar Pradesh, Bihar and Jharkhand.

Reviewing the progress towards ease of doing business, Shri Narendra Modi observed that there is now healthy progress among states for investment. He called for further concerted efforts to build on the momentum, to create a positive perception.

The Prime Minister asked about Mission Mode projects under Digital India. Examining the progress of Digitization of Land Records, the Prime Minister called for integration of all land records with Aadhaar at the earliest. He emphasized that this is extremely important to monitor the successful implementation of the Pradhan Mantri Fasal Bima Yojana.

Reviewing the progress of provision of citizen-centric services electronically, the Prime Minister called for a comprehensive district-wise review across the country, of how many services are actually being delivered online.

In the social sector, the Prime Minister assessed the status of the Widow Pension Programme, and the progress towards eradication of leprosy.

Explore More
It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi

Popular Speeches

It is now time to leave the 'Chalta Hai' attitude & think of 'Badal Sakta Hai': PM Modi
Govt releases Rs 4,000 crore for Post Matric Scholarship Scheme for Scheduled Castes

Media Coverage

Govt releases Rs 4,000 crore for Post Matric Scholarship Scheme for Scheduled Castes
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
टीका उत्सव पर देशवासियों से आग्रह
April 11, 2021
Share
 
Comments

मेरे प्यारे देशवासियों,

आज 11 अप्रैल यानि ज्योतिबा फुले जयंती से हम देशवासी ‘टीका उत्सव’ की शुरुआत कर रहे हैं। ये ‘टीका उत्सव’ 14 अप्रैल यानि बाबा साहेब आंबेडकर जयंती तक चलेगा।

ये उत्सव, एक प्रकार से कोरोना के खिलाफ दूसरी बड़ी जंग की शुरुआत है। इसमें हमें Personal Hygiene के साथ ही Social Hygiene पर विशेष बल देना है।

हमें ये चार बातें, जरूर याद रखनी है।

Each One- Vaccinate One, यानि जो लोग कम पढ़े-लिखे हैं, बुजुर्ग हैं, जो स्वयं जाकर टीका नहीं लगवा सकते, उनकी मदद करें।

Each One- Treat One, यानि जिन लोगों के पास उतने साधन नहीं हैं, जिन्हें जानकारी भी कम है, उनकी कोरोना के इलाज में सहायता करें।

Each One- Save One, यानि मैं स्वयं भी मास्क पहनूं और इस तरह स्वयं को भी Save करूं और दूसरों को भी Save करूं, इस पर बल देना है।

और चौथी अहम बात, किसी को कोरोना होने की स्थिति में, ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ बनाने का नेतृत्व समाज के लोग करें। जहां पर एक भी कोरोना का पॉजिटिव केस आया है, वहां परिवार के लोग, समाज के लोग ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ बनाएं।

भारत जैसे सघन जनसंख्या वाले हमारे देश में कोरोना के खिलाफ लड़ाई का एक महत्वपूर्ण तरीका ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ भी है।

एक भी पॉजिटिव केस आने पर हम सभी का जागरूक रहना, बाकी लोगों की भी टेस्टिंग कराना बहुत आवश्यक है।

इसके साथ ही जो टीका लगवाने का अधिकारी है, उसे टीका लगे, इसका पूरा प्रयास समाज को भी करना है और प्रशासन को भी।

एक भी वैक्सीन का नुकसान ना हो, हमें ये सुनिश्चित करना है। हमें जीरो वैक्सीन वेस्ट की तरफ बढ़ना है।

इस दौरान हमें देश की वैक्सीनेशन क्षमता के ऑप्टिमम यूटिलाइजेशन की तरफ बढ़ना है। ये भी हमारी कपैसिटी बढ़ाने का ही एक तरीका है।

हमारी सफलता इस बात से तय होगी कि ‘माइक्रो कन्टेनमेंट जोन’ के प्रति कितनी जागरूकता हम लोगों में है।

हमारी सफलता इस बात से तय होगी कि जब जरूरत न हो, तब हम घर से बाहर न निकलें।

हमारी सफलता इस बात पर तय होगी कि जो टीका लगवाने का अधिकारी है, उसे टीका लगे।

हमारी सफलता इस बात पर तय होगी कि हम मास्क पहनने और अन्य नियमों का किस तरह पालन करते हैं।

साथियों,

इन चार दिनो में व्यक्तिगत स्तर पर, समाज के स्तर पर और प्रशासन के स्तर पर हमें अपने-अपने लक्ष्य बनाने हैं, उन्हें प्राप्त करने के लिए पूरा प्रयास करना है।
मुझे पूरा विश्वास है, इसी तरह जनभागीदारी से, जागरूक रहते हुए, अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए, हम एक बार फिर कोरोना को नियंत्रित करने में सफल होंगे।
याद रखिए- दवाई भी, कड़ाई भी।

धन्यवाद !

आपका,

नरेन्द्र मोदी।