शेअर करा
 
Comments

संयुक्त राष्ट्र का आज 71वां स्थापना दिवस है। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी संयुक्त राष्ट्र को दो बार संबोधित कर चुके हैं। अपने दोनों बार के भाषण में प्रधानमंत्री ने विश्व के लिए एक दीर्घकालीन विकास की अवधारणा पर जोर दिया। यूएन में अपने 2014 के भाषण में प्रधानमंत्री ने कहा था कि विकास के एजेंडें में हमें इस बात का ध्यान रखना होगा कि हम सभी ‘चिरस्थायी विश्‍व’की कामना के साथ काम करें। वहीं 2015 के अपने यूएन भाषण में श्री मोदी ने कहा था कि गरीबी उन्मूलन तब तक संभव नहीं जब तक विकास दीर्घकालिक ना हो।

ग्लोबल विलेज की अवधारणा पर श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत में वेदकाल से ही वसुधैव कुंटुम्‍बकम की परंपरा रही है। प्रकृति के साथ संवाद भारत के जीवन का हिस्‍सा रहा है।

2015 में संयुक्त राष्ट्र में महात्मा गांधी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा था कि हम उस भावी विश्व के लिए भी चिंता करें जिसे हम देख नहीं पाएंगे। तभी हम संयुक्त राष्ट्र के 2030 के एजेंडें को हासिल कर पाएंगे।

Pariksha Pe Charcha with PM Modi
Explore More
चलता है' ही मनोवृत्ती सोडायची वेळ आता आली आहे. आता आपण 'बदल सकता है' असा विचार करायला हवा : पंतप्रधान मोदी

लोकप्रिय भाषण

चलता है' ही मनोवृत्ती सोडायची वेळ आता आली आहे. आता आपण 'बदल सकता है' असा विचार करायला हवा : पंतप्रधान मोदी
April retail inflation eases to 4.29%; March IIP grows 22.4%: Govt data

Media Coverage

April retail inflation eases to 4.29%; March IIP grows 22.4%: Govt data
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
PM to release 8th instalment of financial benefit under PM-KISAN on 14th May
May 13, 2021
शेअर करा
 
Comments

Prime Minister Shri Narendra Modi will release the 8th instalment of financial benefit under Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi (PM-KISAN) scheme on 14th May at 11 AM via video conferencing. This will enable the transfer of more than Rs. 19,000 crores to more than 9.5 crores beneficiary farmer families. Prime Minister will also interact with farmer beneficiaries during the event. Union Agriculture Minister will also be present on the occasion.

About PM-KISAN

Under the PM-KISAN scheme, a financial benefit of Rs. 6000/- per year is provided to the eligible beneficiary farmer families, payable in three equal 4-monthly installments of Rs.2000/- each. The fund is transferred directly to the bank accounts of the beneficiaries. In this scheme, Samman Rashi of over Rs. 1.15 lakh crores has been transferred to farmer families so far.