साझा करें
 
Comments
"Agritech Asia 2013 : CM inaugurates global agro exhibition at Gandhinagar"
"Organized at Mahatma Mandir in Gandhinagar, the state-of-the-art exhibition, is spread over in 15,000 sq.meter of area"
"Presence of around 250 national and international companies"
"Special sections for animal husbandry and dairy farm industry"
"Information on latest technology in agriculture field available at single place"

Agritach Asia 2013

महात्मा मंदिर में अत्याधुनिक कृषि प्रदर्शनी

मुख्यमंत्री ने किया एग्रीटेक एशिया-२०१३ का शुभारंभ

देश-दुनिया की २५० कंपनियों के स्टॉल्स १५ हजार वर्ग मीटर क्षेत्र में ३ विशेष प्रदर्शनी हॉल कृषि क्षेत्र के अलग-अलग २५ सेक्टरः कृषि की वैज्ञानिक पद्धतियों का निदर्शन

पशुपालन एवं डेयरी फार्म उद्योग संबंधित विशेष विभाग बीज से लेकर बाजार तक की देश-विदेश की तकनीक की जानकारी उपलब्ध

मुख्यमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज महात्मा मंदिर परिसर में आयोजित वैश्विक कृषि सम्मेलन, वाइब्रेंट गुजरात ग्लोबल एग्रीकल्चर समिट-२०१३ के अंतर्गत अति आधुनिक कृषि प्रदर्शनी- एग्री टेक एशिया एक्जीबिशन का उद्घाटन किया।

आज शाम महात्मा मंदिर परिसर में देश के विविध राज्यों के किसान प्रतिनिधिमंडलों और बड़ी तादाद में मौजूद किसानों की उपस्थिति में प्रदर्शनी का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गुजरात ने राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में संशोधित कृषि क्षेत्र के नये प्रयोगों को उजागर करने का प्रयास किया है, जो ऐतिहासिक साबित होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिन्दुस्तान में पहली बार कृषि क्षेत्र से संबंधित ऐसे सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। दुनिया के १४ देश एवं देश के २३ राज्य इसमें भागीदार बने हैं। इस एग्रीटेक को भारत का सबसे बड़ा कृषि मेला करार देते हुए कहा कि इजरायल ने कृषि क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान खड़ी की है और वहां हर तीन-चार वर्ष में ऐसे सम्मेलन का आयोजन किया जाता है। हमारा यह पहला प्रयास है, जो आधुनिक तकनीक के उपयोग की दृष्टि से किसानों के लिए मार्गदर्शक बनेगा। भारत के ग्रामीण जीवन में लाभ पहुंचाने के लिए गुजरात सरकार द्वारा किया गया प्रयास महत्वपूर्ण साबित होगा।

Agritach Asia 2013

कृषि के परंपरागत क्षेत्रों की उत्पादकता को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने के लिए डूइंग बाय सीइंग के सिद्धांत के अनुसार राज्य के किसानों को घऱ बैठे राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कृषि क्षेत्र में हुए शोध, तकनीक, नई कृषि मशीनरी का मार्गदर्शन और बीज से लेकर बाजार तक की देश-दुनिया की तकनीक की जानकारी एक ही स्थल पर मिल सके, इस उद्देश्य के साथ एग्रीटेक समिट का आयोजन किया गया है। महात्मा मंदिर, गांधीनगर में आयोजित एग्रीसमिट सह प्रदर्शनी ९ सितंबर दोपहर दो बजे से छह बजे तक दिनांक १०, ११ तथा १२ को सुबह दस बजे से शाम छह बजे तक आम जनता के अवलोकनार्थ खुली रहेगी। कृषि क्षेत्र में देश भर में अग्रसर गुजरात की कृषि को वैश्विक मानचित्र पर रखकर कृषिकारों को ऐसी प्रदर्शनी के माध्यम से खेती से पहले और उसके बाद की सभी जानकारियां एक साथ, एक ही स्थल पर मिल सके इस मकसद के साथ प्रदर्शनी का आयोजन किया गया है।

प्रदर्शनी में भारत एवं विदेशों की करीबन २५० कंपनियों ने भाग लिया है। १५ हजार वर्गमीटर क्षेत्र में फैले तीन विशेष प्रदर्शनी हॉल में आयोजित इस प्रदर्शनी को देखने के लिए करीब दो लाख लोगों के पहुंचने की संभावना है, इसे देखते हुए यह एशिया की अग्रणी प्रदर्शनी साबित होगी।

Agritach Asia 2013

एग्रीटेक एशिया-२०१३ में कृषि की वैज्ञानिक पद्धतियों के निदर्शन के साथ कृषि क्षेत्र के अलग-अलग २५ सेक्टरों का समावेश किया गया है। खेती से पूर्व सिंचाई एवं प्रौद्योगिकी, ग्रीन हाउस प्लास्टिकल्चर, कृषि उद्योग, डेयरी तकनीक, लाइव स्टॉक फेब्रीकेशन, पशुपालन, उर्वरक, सरकारी एसोसिएशन, बीज कंपनी कॉयर प्रोडक्ट, एग्रो केमिकल्स, ट्रैक्टर एवं उसके कलपुर्जों के उत्पादक, फुड टेक्नोलॉजी, टायर, पैकेजिंग, पम्प्स, परंपरागत ऊर्जा वायर टेक्नोलॉजी, कृषि इस्तेमाल की वस्तुओं सहित कृषि मैगजीन-अखबार और वेब पोर्टल क्षेत्र की अग्रणी कंपनियों ने इसमें भाग लिया है।

एग्रीटेक एशिया-२०१३ में पशुपालन एवं डेयरी फार्म उद्योग से संबंधित जानकारियों से किसानों को अवगत कराने के उद्देश्य से विशेष विभाग खड़ा किया गया है। अत्याधुनिक कृषि ज्ञान के माध्यम से किसान ज्यादा आय अर्जित कर सकें, रोजगारी के नये साधन खड़े करने की जानकारी के अलावा कम भू-भाग में ज्यादा फसल लेने, फसल तैयार होने के बाद उसकी बर्बादी को कैसे कम किया जाए इसकी तमाम जानकारी आधुनिक तकनीक के साथ यहां किसानों के लिए सुलभ कराई गई है।

प्रदर्शनी के आयोजन में गुजरात कोल्ड स्टोरेज एसोसिएशन, नेशनल सीड एसोसिएशन ऑफ इंडिया, इरिगेशन एसोसिएशन ऑफ इंडिया, गुजरात एग्रीकल्चरल मशीनरी मैन्युफैकचर्स एसोसिएशन, नेशनल एसोसिएशन ऑफ वेलफेयर ऑफ एनीमल एंड रिसर्च का भी सहयोग प्राप्त हुआ है।

  Agritach Asia 2013

Agritach Asia 2013

Agritach Asia 2013

Agritach Asia 2013

प्रधानमंत्री मोदी के ‘मन की बात’ कार्यक्रम के लिए भेजें अपने विचार एवं सुझाव
मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Saudi daily lauds India's industrial sector, 'Make in India' initiative

Media Coverage

Saudi daily lauds India's industrial sector, 'Make in India' initiative
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल फरहान अल सऊद ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से भेंट की
September 20, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आज सऊदी अरब के विदेश मंत्री प्रिंस फैसल बिन फरहान अल सऊद से भेंट की।

 

बैठक में दोनों देशों के बीच स्थापित सामरिक भागीदारी परिषद के तत्वावधान में की गई विभिन्न द्विपक्षीय पहलों की प्रगति की समीक्षा की गई। प्रधानमंत्री ने सऊदी अरब से ऊर्जा, सूचना-प्रौद्योगिकी और रक्षा निर्माण सहित प्रमुख क्षेत्रों से भारत में अधिक से अधिक निवेश किए जाने की आशा व्यक्त की।

 

बैठक में अफगानिस्तान की स्थिति सहित क्षेत्रीय विकास के दृष्टिकोणों पर भी विचारों का आदान-प्रदान किया गया।

प्रधानमंत्री ने कोविड-19 महामारी के दौरान प्रवासी भारतीयों के कल्याण पर महत्वपूर्ण रूप से ध्यान देने के लिए सऊदी अरब को अपना विशेष धन्यवाद देते हुए उनकी सराहना की।

प्रधानमंत्री ने सऊदी अरब के सुल्तान और क्राउन प्रिंस को भी अपनी हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं दीं।