साझा करें
 
Comments

नई दिल्ली,22 मार्च

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने आईपीएल क्रिकेट टूर्नामेंट के आयोजन स्थल दूसरे देश में होने से रोकने के लिए केन्द्र सरकार से एक बार फिर गौर करने का आग्रह किया है और कहा है कि अगर यह टूर्नामेंट यहां नहीं हुए तो दुनिया में देश की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े होंगे।

आईपीएल मैचों के विदेश में आयोजित करने के निर्णय पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए भाजपा महासचिव अरूण जेटली ने रविवार को नई दिल्ली में आरोप लगाया कि केंद्र की संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के असहयोग के कारण आइपीएल बाहर जा रहा है। यह साबित करता है कि देश में वह सुरक्षा मुहैया कराने की स्थिति में नहीं है।

उन्होंने कहा कि आइपीएल के बाहर जाने से पूरी दुनिया के पर्यटकों और खेलप्रेमियों में गलत संकेत जाएगा। जब भी कोई विदेशी टीम और विदेशी पर्यटक दुनियां में कहीं जाता है तो वह सबसे पहले यह सुनिश्चित करता है कि वहां वह सुरक्षित रहेगा या नहीं। वैसे भी अगले साल राष्ट्रकुल खेलों का दिल्ली में आयोजन होना है। अगर यह टूर्नामेंट यहां नहीं हुआ तो दुनिया में देश की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े होंगे।

अरुण जेटली ने कहा कि पहले यह लग रहा था कि केन्द्र सरकार और महाराष्ट्र सरकार इस टूर्नामेंंट के आयोजन की अनुमति दे देगी। वामदलों और भाजपा शासित राज्य सरकारों ने इस टूर्नामेंट के लिए पूरी सुरक्षा देने को तैयार हैं। उन्होंने कहा कि जब पिछली बार आईपीएल टूर्नामेंट हुुए थे। उस समय कर्नाटक में विधानसभा चुनाव हुए थे। फिर भी वहां दस मैच हुए और राज्य सरकार ने ही पूरी सुरक्षा मुहैया कराई थी।

उन्होंने कहा कि इंग्लैंड के विबलडन की तरह आस्ट्रेलिया और फ्रांस में भी टेनिस टूर्नामेंटों ने दुनिया में अपनी पहचान बनाई। आईपीएल से भी भारत की पहचान बनने लगी थी। उन्होंने कहा कि अब इसकी अनुमति नहीं मिलने पर देश की प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचेगा और सुरक्षा व्यवस्था की दृष्टि से जो संकेत जाएगा वह उचित नही है।

उधर मुंबई में भाजपा प्रवक्ता रविशंकर प्रसाद ने कहा कि क्रिकेट का 20 ओवरों का खेले जाना वाला लोकप्रिय आईपीएल मैच सिर्फ सुरक्षा उलब्धता के कारण देश से बाहर कराने से देश की बदनामी हो रही है। उन्होंने कहा कि देश में चुनाव होने के कारण क्रिकेट के आईपीएल मैच को सुरक्षा उपलब्ध नहीं करा पाना हास्यास्पद लगता है।

भारत के ओलंपियन को प्रेरित करें!  #Cheers4India
मोदी सरकार के #7YearsOfSeva
Explore More
'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी

लोकप्रिय भाषण

'चलता है' नहीं बल्कि बदला है, बदल रहा है, बदल सकता है... हम इस विश्वास और संकल्प के साथ आगे बढ़ें: पीएम मोदी
Deposit Insurance and Credit Guarantee Corporation Bill, 2021: Union Cabinet approves DICGC Bill 2021 ensuring Rs 5 lakh for depositors

Media Coverage

Deposit Insurance and Credit Guarantee Corporation Bill, 2021: Union Cabinet approves DICGC Bill 2021 ensuring Rs 5 lakh for depositors
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
प्रधानमंत्री ने ‘अंतर्राष्ट्रीय टाइगर डे’ पर वन्यजीव प्रेमियों को बधाई दी
July 29, 2021
साझा करें
 
Comments

प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय बाघ दिवस पर सभी वन्यजीव प्रेमियों को बधाई दी है, खासतौर से उन लोगों को जो बाघों के संरक्षण के लिये बहुत सचेत हैं।

अपने कई ट्वीटों में प्रधानमंत्री ने कहा है :

“#InternationalTigerDay पर वन्यजीव प्रेमियों को बधाई, खासतौर से उन लोगों को जो बाघों के संरक्षण के लिये बहुत सचेत हैं। दुनिया भर में जितने बाघ हैं, उनमें से 70 प्रतिशत बाघों का घर भारत है। हम एक बार फिर यह प्रतिबद्धता व्यक्त करते हैं कि हम अपने बाघों के लिये सुरक्षित प्राकृतिक वास सुनिश्चित करेंगे और बाघों के अनुकूल इको-सिस्टम को बढ़ावा देंगे।

भारत में बाघों के 51 अभ्यारण्य हैं, जो 18 राज्यों में फैले हैं। बाघों की पिछली गणना 2018 में हुई थी, जिससे पता चला था कि बाघों की संख्या बढ़ रही है। बाघों के संरक्षण के मामले में सेंट पीटर्सबर्ग घोषणापत्र में जो समय सीमा तय की गई है, उसे मद्देनजर रखते हुये भारत ने बाघों की तादाद दुगनी करने का लक्ष्य चार साल पहले ही हासिल कर लिया है।

बाघों के संरक्षण के सिलसिले में भारत की रणनीति में स्थानीय समुदायों को सबसे ज्यादा अहमियत दी जा रही है। हम अपनी सदियों पुरानी परंपरा का भी पालन कर रहे हैं, जो हमें सिखाती है कि हमें जीव-जंतुओं, पेड़-पौधों के संग समरसता के साथ रहना चाहिये, क्योंकि ये सब भी इस धरती पर हमारे साथ ही रहते हैं।”