Reflections

Reflections

“क्या आपको पता है कि ईसा पूर्व 800 साल पहले वैदिक काल के पुजारी तथाकथित पाइथागोरियन थ्योरम का इस्तेमाल अग्निवेदी तैयार करने में किया करते थे?” [i] इसलिए अमेरिकन फील्ड्स मेडल विजेता गणित…
Hindol Sengupta
April 18, 2017
शेयर करें
भारत में बाबा साहेब भीम राव अंबेडकर की 126वीं जयंती बड़े पैमाने पर मनाई जा रही है। सामाजिक अन्याय को खत्म करने के लिए डॉक्टर अंबेडकर की दूरदर्शी सोच का नतीजा थी कि वो आधुनिकीकरण पर जोर देते थे। समा…
Milind Kamble
April 14, 2017
शेयर करें
भारत की धरती पर अप्रैल 1853 में पहली बार पटरी पर ट्रेन दौड़ने के बाद से अब तक इंडियन रेलवे ने लंबा सफर तय किया है। अर्थव्यवस्था के विकास में रेलवे का बड़ा योगदान रहा है। रेलवे ने अपने विशाल इन्फ्रा…
Suresh Prabhu
April 12, 2017
शेयर करें
महान रॉबर्ट नॉयस ने कहा था, “नवीनता और कल्पना ही संभावनाओं का मूल मंत्र है।” जबसे मैं भारत लौटी हूं, मैं इस वक्तव्य से और भी अधिक आकर्षित हो गयी हूं। कितना सही तरीके से देश की परिस्थिति…
Debjani Ghosh
April 11, 2017
शेयर करें
उत्तर प्रदेश के मतदाताओं ने हाल में हुए चुनाव में इन मान्यताओं के टुकड़े-टुकड़े कर दिए हैं कि शासन करने का अधिकार ईश्वर ने किसी एक को देकर भेजा है। कई और मान्यताएं टूटी हैं। अपने वर्तमान स्वरूप में…
Smriti Irani
April 07, 2017
शेयर करें
चीन ने गरीबी और अभाव की मार झेलने वाली अपनी जनता के जीवन में बेहतरी लाकर उसे मध्यवर्गीय समाज का हिस्सा बनाया। सहस्राब्दी विकास लक्ष्य के मापदंड पर निश्चय ही चीन की ये बड़ी उपलब्धि है..लेकिन सतत विका…
Samir Saran
April 07, 2017
शेयर करें
किसान के कल्याण और खेती की उत्पादकता के साथ राष्ट्र की तरक्की जुड़ी हुई है। जो भी सरकार हमारे देश को बुलंदियों पर ले जाना चाहती है, किसानों का सशक्तिकरण उसकी प्राथमिकता होती है। मौजूदा सरकार का ने…
Radha Mohan Singh
April 06, 2017
शेयर करें
भारत की गरीबी की समस्या का समाधान उस प्रक्रिया की जटिलता में उलझा हुआ है जिसके तहत हर महीने करीब 10 लाख बच्चे मजदूर बन जाते हैं और अगले दस वर्षों तक इस जनसांख्यिक अवस्था का लाभ कैसे उठाया जाए। इन द…
Manish Sabharwal
March 28, 2017
शेयर करें
हमारी सरकार का एक ही लक्ष्य है - सबका साथ सबका विकास। हमें जनादेश भी इसी लक्ष्य को पूरा करने के लिए मिला है। लोकसेवा में लीन रहने वाले हमारे माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का सपना है अंत्योद…
JP Nadda
March 27, 2017
शेयर करें
बीते तीन वर्षों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने व्यापक आर्थिक सुधारों के अहम कदम उठाए हैं। दरअसल अगर 1991 के उदारवादी प्रयासों को आर्थिक सुधारों की दिशा में पहला और 1998 से 2004 के बीच वाजपेयी सरक…
Jayant Sinha
March 27, 2017
शेयर करें