Share
 
Comments 4 Comments

GIFT is a landmark initiative that will revolutionze India’s financial and infrastructural landscape. 

With top quality infrastructure, business oriented and environemnt friendly approach, GIFT will redefine how we look at urban space. 

From domestic corportates, global industries to foreign countries, the entire world is looking at GIFT as an idea whose time has come!

 

 

Just a few days ago, Gujarat International Finance Tec-City, popularly known as GIFT did the entire nation proud when it was adjudged the ‘Best Industrial Development & Expansion Project’ by World Finance Magazine. A variety of considerations from infrastrusure, scope, size etc ensured that GIFT emerged victorious, ahead of Moscow’s Internatinal Finance Centre and Songdo in South Korea.

Recent news in TOI states that, “a team from WN Media was in Gandhinagar for an for an on-site inspection of various sustainable processes that will be part of urban planning in Gift city. The WN-Media has three categories of awards, World Finance Banking awards, World Finance Legal awards and World Finance Infrastructure Investment awards. GIFT won in the third category.”

The last few years have witnessed unprecedented growth in India’s financial services sector. Both in terms of share if the GDP and in job creation, this importance of this sector is gaining pace and this is bound to increase even more as time passes. You may have noticed that several developed countries have created high-tech financial hubs serving as focal points of their nation’s development journey be it Shinjuku in Tokyo, Lujiazui in Shanghai or the London Dockyards in UK. With a condusive environment, these centres enhance capital flow and give a great impetus to talent.

It was this vision to revolutionize India’s financial and infrastructure landscape that made Chief Minister Shri Narendra Modi conceptualize GIFT and announced its launch on 28th June 2007.

Situated on the banks of the iconic Sabarmati river, GIFT is located 12 km from Ahmedabad’s International Airport and 8 km from Gujarat’s capital Gandhinagar. GIFT primarily caters to India’s massive financial services sector by offering  world class infrastructure, a business oriented and environment friendly atmosphere. With a target of more than  5,00,00 direct and the same number of indirect jobs, GIFT will provide opportunities to many bright youngsters of India.

The implementation of GIFT marks a wonderful example of how public-private partnership can together script a new roadmap to economic development. Along with a determined vision comes state of the art infrastrucute. GIFT would have 24/7 water supply, electricity along with the communication and transport technologies.

It is not only India but also the world that is seeing an ocean of opportunity in GIFT. Till now, GIFT has attracted a variety of investments from various sectors. Countries from Singapore, Malayasia to China are also serving as active particpiants in this landmark project. Companies such as Fortis and CISCO are among those that have signed MoUs to invest in GIFT.

In December 2011, GIFT created history when it was notified as the International Financial Service Centre (IFSC) for its multi-service Special Economic Zone (SEZ). This accreditation affirms GIFT’s ability to emerge as an international financial hub. 

The future of the world economy lies in stellar infrastructure backed by top quality finance services. It is these international demands that propelled the launch of GIFT project. The project is a ‘win-win’ situation for both India and the world.

 

Presentation - GIFT: A Global FInancial Hub

 

Explore More
PM Modi addressing at the Joint Meeting of U.S Congress in Washington DC

Share a Picture
|

PM Modi addressing at the Joint Meeting of U.S Congress in Washington DC
India tops chart on progress on financial inclusion, says BCG report

Media Coverage

India tops chart on progress on financial inclusion, says BCG report
...

Nm on the go

Always be the first to hear from the PM. Get the App Now!
...
Sports must be a part of everyone's life: PM Modi
July 23, 2016
Share
 
Comments
PM Modi interacts with youngsters at launch of Reliance Foundation Youth Sports
Sports must me a part of everyone's lives, says PM Narendra Modi
Sports can be a great means of national integration: PM Modi
We must not be left down by defeat. It should inspire us to work hard and shine: PM

आप सब को मेरी बहुत शुभकामनाएं हैं। खेल अपने आपमें सामान्य व्यक्ति के जीवन का हिस्सा होना चाहिए और अगर खेल को हम जिंदगी का हिस्सा नहीं बनाते हैं तो जीवन एक प्रकार से विकसित नहीं होता है। कुछ लोगों के दिमाग में ऐसा भरा पड़ा है कि physical health के लिए खेल जरूरी है। ये बहुत ही सीमित सोच है। व्यक्तित्व के संपूर्ण विकास के लिए, overall development के लिए खेल जीवन का हिस्सा होना बहुत अनिवार्य है। खेल से समाज-जीवन भी विकसित होता है, राष्ट्र-जीवन भी विकसित होता है।

भारत जैसे देश जहां पर करीब-करीब 100 भाषाएं हों, 1700 dialects हो, भांति-भांति के पहनावे हो, भांति-भांति के खान-पान हो। हमारे देश में तो एक छोर से दूसरे छोर तक district level की टीमें अगर खेलती रहें, 12 महीनें खेलती रहें तो खेल ही नहीं National Integration का ये सबसे बड़ा एक आधार बन सकता है। और इसलिए भारत में खेल तो व्यक्तित्व के विकास के साथ, समाज के अंदर एक lubrication के लिए, क्योंकि जो sports हो तो sportsman spirit आता है और जब sportsman spirit होता है तो एक प्रकार से पारिवारिक जीवन में, सामाजिक जीवन में, राष्ट्र जीवन में ये lubrication का काम करता है, खुलापन लाता है, दूसरों को स्वीकारने का सामर्थ्य देता है।

खेल में जीतने का जितना आनंद होता है, उससे ज्यादा पराजय को पचाने की एक बहुत बड़ी ताकत खेल से आती है। जो व्यक्ति जिंदगी में खेलता रहता है। कभी लुढ़क जाता है फिर कभी उठकर खड़ा हो जाता है, वो कभी जिंदगी के और अवसरों पर हार नहीं मानता है। खेल एक जीवन के अंदर ऐसे गुणों को विकास करता है, जीवन भर जूझने का सामर्थ्य देता है, खिलाड़ी कभी हार नहीं मानता है। जो खिलाड़ी सिर्फ शारीरिक खेल खेलता है, उसकी मैं बात नहीं करता हूं। जो शरीर और मन से खेल से जुड़ा हुआ होता है, वो इसको पा सकता है और इसलिए sports का अपने जीवन में, राष्ट्र के जीवन में महत्व होना चाहिए।

आप सब आज फुटबाल खेलने की शुरुआत कर रहे हैं, match कर रहे हैं और मैं Reliance sports foundation को बधाई देता हूं कि उन्होंने देश की युवा पीढ़ी के साथ जुड़कर के खेल को महत्व देना का प्रयास किया है। Talent को खोजना, ये सबसे बड़ा काम होता है और जब तक व्यापक स्तर पर हमारे बाल मित्रों को खेलने का मौका नहीं मिलता है, Talent का पता ही नहीं चलता है और आज sports के साथ, glamour भी आई है और उसके कारण कभी-कभी परिवार के लोग भी बच्चों को खिलाड़ी तो बनाना चाहते हैं लेकिन सुबह 4 बजे मेहनत करने की बात आए तो थोड़े पीछे रह जाते हैं तो पहले इसमें glamour आए, भले ही उसमें celebrity का status बन जाए लेकिन खेल कठोर परिश्रम के बिना आगे नहीं बढ़ सकता है।

मुझे विश्वास है कि Reliance foundation के द्वारा लगातार sports को बढ़ावा देने के लिए grass route पर अनेक विभिन्न स्पर्धाएं चलती रहेंगी और स्पर्धाओं में से talent निकलेंगी और जितनी स्पर्धा से talent निकलेंगी, उतना ज्यादा लाभ होगा। मेरी Reliance foundation को, नीता बहन को बहुत-बहुत शुभकामनाएं हैं और आप सभी विद्यार्थियों को, आप बाल मित्रों को, sports के जीवन में पराजय को हमेशा अवसर मानना, पराजय से कभी परेशान मत होना। पराजय सिखाता है, बहुत कुछ सिखाता है और जो खेलता नहीं है वो न जीतता है और न ही पराजित होता है। जीतता भी वही है, पराजित भी वो ही होता है जो खेलता है और खिलता भी वही है जो खेलता है।

जो खेले, वो खिले अगर आप खेलते ही नहीं है तो खिल भी नहीं सकते हैं। और इसलिए व्यक्तित्व का विकास करना है, खुद को खिलते हुए देखना है। जैसे कमल का फूल खिलता है, जैसे एक पौधा खिलता है, वैसे ही जीवन भी खिलता है और खेल खिलने के लिए एक सबसे बड़ी औषध है, सबसे बड़ा अवसर है, सबसे बड़ी challenge भी है। और इसलिए मैं आज आप सब बाल मित्रों के माध्यम से खेल जगत से जुड़े हुए सबको शुभकामनाएं देता हूं। Sports शब्द, उस एक शब्द से हम खेल जगत की दिशा क्या हो, खेल जगत की दृष्टि क्या हो इसको भलीभातिं व्याखित कर सकते हैं। जब हम sports कहते हैं: S stands for Skill, P stand for Perseverance, O stands for Optimism, R stands for Resilience, T stands for Tenacity, S stands for Stamina, इन सब चीजों को लेकर हम पूरी अपनी रचना करेंगे तो हमको बहुत सफलता मिलेगी और आज इस अवसर पर मैं आप सबको बहुत-बहुत शुभकामनाएं देता हूं, I wish you all the best.